Mon. Aug 8th, 2022

हमारा ‘संविधान’ लोकतंत्र की आत्मा है, जो हमें बहुजन हिताय बहुमत सुखाय की भावना को आत्मसात करने की प्रेरणा देता है और यही भावना मुझे देखने को मिलती है ब्रह्माकुमारीज संस्थान की कार्यशैली में ऐसा कहना है लोकसभा स्पीकर ओम् बिरला का दरअसल संस्थान के मुख्यालय से आयोजित समाज सेवा प्रभाग की ई-कान्फ्रेंस से माध्यम से उन्होंने अपना ये संदेश दिया। आगे हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, महाराष्ट्र के पूर्व फाइनेंस मिनिस्टर सुधीर मुनगंटीवार और संस्थान में यूरोप और मिडिल ईस्ट की निदेशिका बीके जयंति ने वर्तमान समय को मद्दे नजर रखते हुए कहा कि हमें विचलित होने के बजाय संयम बनाकर रखना है इस मुस्किल की घड़ी में मेहनत और ईमानदारी से अगर हम कोई कार्य करेंगे तो उसका सकारात्मक फल अवस्य मिलेगा वहीं संस्थान के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय ने भी अपना संदेश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *