Mon. Oct 26th, 2020

वर्तमान समय कोरोना से पूरे विश्व के लोग प्रभावित हैं, भारत में भी इसने विकराल रूप ले लिया है बात करें राजस्थान के सिरोही की तो वहां तकरीबन मरीजों की संख्या 2 हज़ार हो गई है ऐसे में आबूरोड के किवरली स्थित ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान द्वारा दिया गया मानसरोवर आइसोलेशन सेंटर कोरोना रोगियों के लिए वरदान साबित हो रहा है, क्योंकि यहां का रिकवरी रेट 95 प्रतिशत से भी ज्यादा है यह राजस्थान के किसी भी कोविड केयर सेन्टर से ज्यादा है। और इसकी वजह है राजयोग, ध्यान, व्यायाम और मेडिकेशन का संयुक्त प्रयास।
इस आइसोलेशन सेंटर में भर्ती होने वाले कोरोना पॉजीटिव रोगी जल्दी रिकवर होकर अपने घर वापस लौटे इसके लिए प्रकृति के बीच शांत वातावरण में बकायदा दिनचर्या निर्धारित की गई है रोगियों को मेडिटेशन व प्राणायाम के साथ शुद्ध, सात्विक व हेल्दी भोजन दिया जाता है यहां दो चिकित्सक डॉ. सलीम खान तथा डॉ. सुरेंद्र यादव के साथ सुखवीर सिंह तथा 21 का स्टाफ है जो दिन रात मरीजों की देखभाल करते रहते हैं अब तक इस सेंटर में 929 कोविड मरीज भर्ती हो चुके हैं जिसमें से 833 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं और गंभीर अवस्था होने पर 29 मरीज़ों को दूसरे स्थान पर भेजा गया है तथा वर्तमान में 63 मरीजों का इलाज चल रहा है।
गौरतलब है कि ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान ने इस मुश्किल की घड़ी में किवरली के समीप मानसरोवर में आठ सौ बेड की क्षमता वाली नवनिर्मित बिल्डिंग जिला प्रशासन को 27 मार्च को उपलब्ध कराया था, तक तक इस बिल्डिंग का उद्घाटन भी नहीं हुआ था लेकिन फिर भी संस्थान ने बिना विलंब किए मानवता की सेवा में बिल्डिंग को उपलब्ध कराया था जहां मरीजों को आध्यात्मिक वातावरण, राजयोग, प्राणायाम व सात्विक अन्न, काढ़ा आदि देकर उनका बेहतर इलाज किया जाता है जिससे उनकी सोच भी सकारात्मक रहती है और शरीर भी स्वस्थ हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *