Tue. Dec 1st, 2020

काम, क्रोध, लोभ आदि विकार आसुरी प्रवृत्तियों के प्रतीक है। उनपर विजय पाने का उत्सव है नवरात्री रोजमर्रा की जिंदगी में मन मन में आयी बुराईयों से मिटकार कर जीवन में आदर्श मूल्यां को निखारने के लिए यह उत्सव मनाया जाता है नवरात्रि और दशहरा के अवसर पर संस्थान के विभिन्न सेवाकेन्द्रों पर आध्यात्मिक रहस्यों से साथ पर्व को मनाया गया आइए देखते है अलग अलग स्थानों पर सजी चौतन्य देवियों के झाकियों की झलक।
यूपी के औरेया सेवाकेन्द्र पर नवरात्रि के उपलक्ष्य में चैतन्य देवियों की झांकी सजाई गई, जहां बीके कृष्णा ने शिव शक्ति का आध्यात्मिक रहस्या बताया, आगे राजस्थान के भद्रा में एस.एच.ओ कविता पुनिया, पूर्व डी.एस.पी राजेन्द्र ने सेवाकेन्द्र पर शिरकत की। छ.ग. के धमतरी में ‘रामराज्य आने वाला है‘ विषय पर ऑनलाइन कार्यक्रम में प्रभारी बीके सरिता ने अपने विचार व्यक्त किए। दिल्ली के इंद्रपुरी में ऑनलाइन कार्यक्रम को बीके अनुसूइया एवं स्थानीय प्रभारी बीके बाला ने सम्बोधित किया। मध्यप्रदेश के सिंगरौली में 5 दिवसीय नवरात्रि कार्यक्रम में शक्ति सेना अध्यक्ष विजयलक्ष्मी, एन.टी.पी.सी के मैनेजर रमेश कुमार महाजन, प्रभारी बीके शोभा मुख्य रुप से उपस्थित रही।
इसी प्रकार ओड़िशा में ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा विकारों पर विजय विषय पर आयोजित 18 दिवसीय ई-अभियान के समापन पर शक्ति स्वरुपा.. ऑनलाइन आध्यात्मिक सांस्कृतिक कार्यक्रम किया गया। इस अवसर पर कटक सबज़ोन प्रभारी बीके कमलेश, सांसद सुरेश बाबू ने अपनी शुभकामनाएं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *