Thu. Oct 22nd, 2020

West Bengal

कोलकाता में इंडियन सोसाइटी फॉर असिसटेड रीप्रोडक्टशन की 23 एनुअल कांगे्रस 2018 का आयोजन साइंस सिटी में किया गया। जिसमें दुनिया भर के 2000 चिकित्सकों और विशेषज्ञों ने भाग लिया था। 4 दिनों के लिए साइंटिफिक सेशंस और वर्कशाप का आयोजन 11 ऑडिटोरिम में किया गया व 100 से भी अधिक हेल्थकेयर और स्वास्थ्य संबंधित कंपनियों के द्वारा एक्जीबिशन लगाया गया जिसमें ब्रह्माकुमारीज़ के आशुतोष मुखर्जी रोड सेवाकेंद्र द्वारा आध्यात्मिक चित्र प्रदर्शनी लगाई गई।
इस एक्जीबिशन के माध्यम से बीके सदस्यों ने ब्रह्माकुमारीज संस्था के मेडिकल विंग द्वारा स्वास्थ्य में होने वाली असाधारण सफलता के बारे में जानकारी दी और राजयोग से शारीरिक स्वास्थ्य को कैसे बेहतर बनाया जा सकता है इससे भी अवगत कराया।
इस मौके पर सेवाकेंद्र प्रभारी बीके कानन एवं अन्य बीके सदस्यों ने आसनसोल से आए डॉ. विश्वजीत कौर, इम्फाल से आये डॉ. के.एच. तूम्बा, डॉ. नरेंद्र मल्होत्रा एवं इसर के पूर्व प्रेसिडेंट डॉ. जयदीप मल्होत्रा से मुलाकात की और संस्थान के मुख्यालय माउंट आबू आने के लिये आमंत्रित किया।
इसीक्रम में वैल्यू एजुकेशन एंड सेल्फ एम्पावरमेंट के तहत लिटिल गर्ल्स बीकम विमेन विथ ड्रीम्स एंड विज़न विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें बीके कानन ने अपने जीवन अनुभवों को साझा करते हुये पाँजीटिव एटीट्यूड बनाने की बात कही, जे. डी. बिरला इंस्टिट्यूट द्वारा आयोजित हुई इस कार्यशाला में बारह वर्षो से राजयोगा का अभ्यास कर रहीं नेहा सराफ ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से एक सफल जीवन के लिये कौन – कौन सी योग्यतायें होनी चाहिये इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी और स्वयं को सदा मोटीवेट रखने के उपाय बताये।
इस दौरान राजयोग शिक्षिका बीके चंद्रा ने राजयोग का अभ्यास कराया जिसमें सभी ने शांति की अनुभूति की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *