Sun. Oct 25th, 2020

Nashik

महाभारत में तो बस एक कुंभकर्ण का जिक्र किया गया था लेकिन वास्तव में देखा जाए तो हर वो व्यक्ति कुंभकर्ण के समान है जो अज्ञान अंधकार में आज भी सोया हुआ है क्योकि आज की भागदौढ़ भरी जिंदगी में यदि पल भर के लिए भी सुख शांति प्राप्त करना हो तो अपने अंदर के पांच विकारों को समाप्त करना होगा। इसी लक्ष्य को लेकर महाराष्ट्र के नासिक सेवाकेंद्र की तरफ से कुंभकर्ण की झांकी का आयोजन किया गया।
उत्तम नगर शिवराज युवक मित्रमंडल के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस झांकी का शुभारंभ नासिक सेवाकेंद्र प्रभारी बीके वासंती, राज्यग्राम विकास मंत्री दादा भुसे, शिवसेना जिला प्रमुख विजय करंजकर, महानगर प्रमुख अजय बोरस्ते समेत कई नगरसेवकों को दीप जलाकर किया। साथ ही शहर के कई प्रतिष्ठित लोगों ने इस झांकी का अवलोकन कर संस्था द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की। व हजारों लोगों ने मेडिटेशन कक्ष में राजयोग का अभ्यास कर असीम शांति की अनुभूति की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *