Fri. Oct 23rd, 2020

Maharashtra

मातृत्व की जिम्मेदारी अद्भुत है इस दायित्व को पूरा करने के लिए एक मां को खानपान, विचार और व्यवहार इन सभी का बखूबी ख्याल रखना चाहिए क्योंकि इसका सीधा असर गर्भ में पल रहे बच्चे के स्वास्थ्य तथा व्यवहार पर निश्चित तौर पर पड़ता ही है और इस बात को नील क्लीनिक की संचालिका बीके डॉ. शुभदा नील जो खुद एक गायनोकोलॉजिस्ट हैं वे अच्छे से जानती हैं इसिलिए वे अक्सर गर्भवती महिलाओं के शारीरिक, मानसिक व भावात्मक सवास्थ्य के प्रति जागरूक रहती हैं और उन्हें सशक्त बनाने का प्रयास करती हैं जिसकी अगली कड़ी में साउथ गोवा के एनडी नाईक हॉल मडगांव में अद्भुत मातृत्व फोग्सी इरीस इनिशिएटिव कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

गायनेक सोसायटी, महिला बालकल्याण अधिकारी और ब्रह्माकुमारीज के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम का उद्घाटन महिला बाल कल्याण अधिकारी दिपाली नाईक,  गायनेक सोसायटी के प्रेसिडेंट डॉ. दीपक लवंदे, बीके डॉ. शुभदा नील, मोटिवेशनल ट्रेनर बीके ई वी गिरीश, गोवा के पणजी सेवाकेंद्र प्रभारी बीके शोभा, बीके सुरेखा व अन्य विशिष्ट महिलाओं ने दीप जलाकर किया।

इस मौके पर डॉ. शुभदा नील ने सात्मिक आहार व मेडिटेशन, प्रैक्टिकल योगा आदि विषयों पर मार्गदर्शन किया और बीके ई वी गिरीश ने क्रोध और तनाव पर जीत कैसे पायी जाए इसकी युक्ति बताई इस कार्यक्रम का लाभ लगभग 400 लोगों ने लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *