Thu. Oct 29th, 2020

त्रिवेणी संगम के पवित्र स्थल पर कुम्भ मेले में दुनिया का सबसे बड़ा आध्यात्मिक सम्मेलन.. संस्कृतियों का एक सच्चा संगम बन गया है, ‘डिवाइन लाइट‘ समूह के आध्यात्मिक कलाकारों के रुप में.. 5 देशों से ब्रह्माकुमारीज़ के सदस्यों ने प्रयागराज में शानदार गंगा मंच पर प्रदर्शन दिया। रुस, यूक्रेन, बेलारुस, आर्मेनिया और अज़रबैजान से आए कलाकारों ने भारतीय गीतों और नृत्यों की प्रस्तुति दी, साथ ही सार्वभौमिक समझ के माध्यम से आध्यात्मिक भाईचारे को बढ़ावा देते हुए विश्व के प्रेति प्रेम व सौहार्दपूर्ण व्यवहार बनाने का संदेश दिया।
प्रयागराज में ब्रह्माकुमारीज़ के सेवाकेन्द्र की स्थापना के लेकर अब तक त्रिवेणी संगम में संस्थान अपनी सेवाओं के लिए प्रदर्शनियों, स्टॉलों और मंडपों की व्यवस्था कर, अनेका अनेक संगोष्ठियां आदि आयोजित करती आ रही है और ये दौर अभी भी सफलतापूर्वक जारी है। हालांकि, इस वर्ष इन गतिविधियों में नए स्तर पर कुछ बदलाव किया गया है। राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रभाव को बढ़ाने के लिए उत्तरप्रदेश के संस्कृति विभाग के आधिकारिक निमंत्रण पर 25 सदस्यों की अंतरराष्ट्रीय टीम प्रयागराज पहुंची थी।
विशेष रुप से धार्मिक के बजाय बहुसांस्कृतिक का एक नया प्रतिमान, इस समारोह में वसुधैव कुटुम्बकम की शानदार प्रस्तुति से दर्शाया गया, ‘डिवाइन लाइट‘ अंतरराष्ट्रीय समूह की भागीदारी ने समारोह को विविधता में एकता पर सुंदर और प्रभावशाली प्रदर्शन दिया। इस दौरान त्रिदिवसीय इस सांस्कृतिक कार्यक्रम के अन्तराल ‘ज्ञान का अमृत, स्वर्ण भारत और सर्वोच्च आनंद‘ थीम के द्वारा दर्शकों को प्राचीन धार्मिक और सांस्कृतिक स्मारकों के वास्तविक आध्यात्मिक महत्व के बारे में बताया गया, भारत देश के राष्ट्रगान और अंतरराष्ट्रीय कलाकारों द्वारा हिन्दी में गाए गए कई गीतों की प्रस्तुयिं दर्शकों के दिल को छु गई।
यूपी के संस्कृति विभाग के प्रमुख जितेन्द्र कुमार ने ब्रह्माकुमारीज़ के योगदान की सराहना की, वहीं सेंट पीटर्सबर्ग में संस्था की निदेशिका बीके संतोष ने इस कलाकरों का परिचय दिया। इस अवसर पर प्रयागराज क्षेत्र की संचालिका बीके मनोरमा समेत लखनऊ गोमती नगर सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके राधा भी मुख्य रुप से मौजूद रही।
इस शानदार प्रस्तुति के बाद मीडिया द्वारा इन कलाकारों के कई इंटरव्यू भी लिए गए, वहीं सुदर्शन न्यूज़ टीवी चैनल के चेयमैन, मैनेजिंग डायरेक्टर तथा एडिटर-इन-चीफ सुरेश चव्हाणके ने भी इन कलाकारों से बातचीत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *