Wed. Nov 20th, 2019

Barnala, Punjab

पंजाब के बरनाला में ब्रह्माकुमारीज के गीता पाठशाला में स्नेह मिलन कार्यक्रम का आयोजन हुआ जिसमें बीके सदस्यों के अलावा स्थानीय लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया इस मौके पर बीके सुदर्शन ने ओम शांति का अर्थ स्पष्ट करते हुए कहा कि ओम शांति माना मैं एक शांत स्वरूप आत्मा हूं, और आत्मा का धर्म स्वयं शांत रहकर दूसरों को भी शांति का अनुभव कराना है।
कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए गीता पाठशाला के इंचार्ज बीके सुभाष ने सभी उपस्थित लोगों से कहा कि हमें अपने संकल्पों में दृढ़ता लानी चाहिए जिहसे एक मज़बूत समाज की स्थापना हो सके। अंत में सभी को राजयोग का अभ्यास भी कराया गया।
इसके अलावा बरनाला में रामबाग के शिव मंदिर के नजदीक भव्य ज्ञान प्रदर्शनी भी लगाई गई जिसका हज़ारों लोगों ने अवलोकन कर ईश्वरीय संदेश प्राप्त किया।
बरनाला सेवाकेंद्र प्रभारी बीके बृज ने प्रदर्शनी के चित्रों को समझाते हुए लोगों को बताया कि परमात्मा शिव के सच्चे ज्ञान को दर्शाने वाली यह प्रदर्शनी है जिसमें आत्मा और उसके गुणों को शक्तिशाली बनाने की विधि को बड़े ही सहज विधि से बताया गया है वहीं बीके सुदर्शन समेत अन्य बीके सदस्यों ने लोगों से तनावमुक्त बनने के लिए राजयोग को जीवन में शामिल करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *