Sat. Oct 24th, 2020

जर्मन के बॉन में चल रही सीओपी-23 के दौरान यूएनएफसीसीसी की एग्ज़ीक्यूटिव सेकेट्री पैट्रीशिया इस्पिनोसा ने कई धर्मो के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की ,जिसमें ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान में यूरोपीयन देशों की निदेशिका बी.के. जयंति भी शामिल थी l
इस दौरान बीके जयंति ने कहा कि धर्म विवेक के स्तर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और लोगो का विश्वास उसे करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, साथ ही पैट्रीशिया इस्पिनोसा को उन्होनें ‘इंडिया वन’ प्रोजेक्ट की विस्तार से जानकारी दी,लगभग आधे घंटे तक चली इस मुलाकात में एस्पिनोसा ने फेथ बेस्ड प्रतिनिधियों की जलवायु परिवर्तन के लिए लोकल लेवल पर किये जा रहे प्रयासों को सराहा I और इस मिटिंग के अंत में सीओपी-23 की सफलता के लिए सभी ने एक मिनट का मौन रखा।
वहीं कॉल्न शहर में कम्यूनिटी सेंटर के पास पब्लिक टाक का आयोजन किया गया, जिसमें बी.के. जयंति और इंडिया वन प्रोजेक्ट के सलाहकार बीके गोलो पिल्ज़ से दगमर रिंगहेंदट से जलवायु परिवर्तन, सोलार एनर्जी और सदा सकारात्मक रहने के लिए कई प्रश्न पूंछे ,इन प्रश्नों के हल के लिए बीके जयंति ने प्लांट बेस्ड डाईट और स्वभाव को सरल बनाने पर ज़ोर दिया I वहीं बी.के. गोलो पिल्ज़ ने बताया कि नियमित राजयोग के अभ्यास से मेरी पर्सनल जर्नी के दौरान आने वाली परिस्थितियों पर काबू पाने और इंडिया वन प्रोजेक्ट को सफल बनाने में मदद मिली और अंत में ब्रह्माकुमारीज़ में जर्मनी की निदेशिका बी.के. सुदेश ने भी बातचीत में भाग लिया I इस पब्लिक टाक का समापन कुछ देर के मेडिटेशन से हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *