Mon. Oct 26th, 2020

Solar power reduced electricity bill

सौर उर्जा एक ऐसी उर्जा है जिसके प्रयोग से मनुष्य की कई आवश्यकतायें प्राकृतिक संसाधनों से ही पूरी की जा सकती है। और ऐसे में यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि लातूर सेवाकेन्द्र पर सोलार उर्जा ने बिजली का बिल ही गुल कर दिया है। यह हकीकत है, जो कम खर्च में अधिक प्राप्ति वाला तो है ही, साथ ही पर्यावरण की दृष्टि से भी अनुकूल है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने संस्था के अस्सी वें वर्षगांठ पर अपील की थी कि उर्जा संरक्षण के लिए क्षे़त्र में सस्थान के सदस्यों को बढ़ चढ़कर हिस्सेदारी ले, जिसे पूरा करते हुए संस्थान ने यह पहल की है। संस्थान इसके लिए गम्भीर है। जिसके तहत यह प्रयास किया गया है जो निश्चित तौर पर प्रधानमंत्री मोदी समेत देश के अन्य लोगों को भी प्रेरित करेगी।
उर्जा संरक्षण के प्रति लोगो में जागरूकता फैलाने के लिए लातूर सेवाकेंद्र पर आयोजित इस कार्यक्रम में लातूर महावितरण परिमंडल के मुख्य अभियंता राजाराम मुरूड, उपकार्यकारी अभियंता जितेंद्र राठौर मुरूड, आदित्य ग्रीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर आदिनाथ सांगवे, सेवाकेंद्र प्रभारी बीके नंदा, वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके पुण्या, एनर्जी ऑडिटर बीके केदार मुख्य रूप से मौजूद थे।
इस दौरान बीके नंदा व बीके केदार ने सभी को विद्युत बिल को जीरो करने के महामंत्र बताये, उन्होंने पहला महामंत्र बताया कि ज्यादा बिजली खानेवाले उपकरणों को बदलकर नये उपकरणों को उपयोग किया ……दूसरा महामंत्र जरूरत पड़ने पर ही उपकरणों का उपयोग करो ताकि बिजली की बचत हो सके………तीसरा सोलार से निर्मित बिजली का उपयोग किया……..जिसका डायरेक्ट कनेक्शन मीटर से जोड़ दिया ताकि जब बिजली का उपयोग न हो तो निर्मित बिजली महावितरण बोर्ड को वापस चली जाए और जरूरत पड़ने पर विद्युत वापस ली जा सके………..इस विधि से हमारा विद्युत बिल जीरो आया और भविष्य में भी आता रहेगा।
कार्यक्रम में उपस्थित आदिनाथ सांगवे और जितेंद्र राठौर ने संस्थान के प्रयासों की सराहना करते हुए अन्य लोगो को विद्युत सरंक्षण के लिए प्रेरित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *