Fri. Oct 23rd, 2020

Malad, Mumbai

मन के संतुलन के बिगड़ने से ही सारी समस्याओं का जन्म होता है जीवन में मन का संतुलन कितना आवश्यक है इस पर अपना वक्तव्य देते हुए मलाड सेवाकेन्द्रों की प्रभारी बीके कुंती ने उदाहरण के माध्यम से सभी को समझाया कि मन के संतुलन को बनाए रखने से सभी काम सम्भव हो जाते है और संबंधों में भी समरस्ता रहती है।
मुम्बई में शकिलम् फाउण्डेशन, श्री लक्ष्मी नारायण ट्रस्ट तथा प्रगति मित्र मंडल के संयुक्त तत्वाधान में मलाड पश्चिम के ठक्कर हॉल में संबंधों में सुमधुरता विषय पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर बीके कुंती आमंत्रित हुई थी, इस अवसर पर प्रगति मित्र मंडल के मैन्जिंग कमेटी के भानुभाई शाह तथा ट्रस्टी निरंजन सेठ, सी.ए आनंद मेहता समेत अन्य कई गणमान्य लोगों को बीके कुंती ने धार्मिक प्रभाग की स्मारिका भेंट की। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में शहर के विशिष्ट नागरिक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *