Thu. Nov 14th, 2019

Maharashtra

संतरों की नगरी नागपुर में विश्व शांति सरोवर बनकर तैयार हो गया है। अब नागपुर सहित विदर्भ के लोग अध्यात्म की डुबकी लगार आन्तरिक सेहत बनाने में सफल होंगे। जामठा में बने इस विशालकाय विश्व शांति सरोवर का उदघाटन ब्रह्माकुमारी संस्था मुख्य प्रशासिका 103 वर्षीय राजयोगिनी दादी जानकी, उर्जा एवं पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, उर्जा, पर्यटन, खाद्य, औषधि के राज्यमंत्री मदन येरावार, सांसद विकास महात्मे, विधायक डॉ. मिलिंद माने, महापौर नंदा जिचकार, महाराष्ट् आंधप्रदेश एवं तेलंगाना ज़ोन की निदेशिका बीके संतोष, माउंट आबू से आई वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके उषा, शांतिवन के मुख्य  अभियन्ता बीके भरत, शांतिसरोवर हैदराबाद की निदेशिका बीके कुलदीप, नागपुर सबज़ोन की संचालिका बीके रजनी समेत संस्थान के कई वरिष्ठ पदाधिकारियों, विधायक, सांसद और प्रतिष्ठित नागरिकों की उपस्थिति में संपन्न हुआ।

नागपुर की धरती अपने सशक्तिकरण के लिए एक ऐसे स्थान को जन्म दे दी है जहॉं हर कोई सशक्त हो सकता हैं। इसका सींचन करने स्वयं एक सदी पार कर चुकी रजायोगिनी दादी जानकी की दृष्टि पड़ी और विश्व शांति सरोवर का हर कोना प्रफुल्लित हो उठा। हजारों की संख्या में उपस्थित लोगों का अभिवादन स्वीकार करते हुए दादी ने विश्व शांति सरोवर के कोने कोने को अपनी चरण रज से पवित्र किया।

रिट्रीट सेंटर के उद्घाटन अवसर पर आयोजित इस विशाल समारोह का शुभारंभ सभी महानुभवों ने दीप जलाकर किया। जिसमें विशाल हंसों की सभा को देखते हुए उर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले ने अपनी खुशी जाहिर की और विश्व शांति सरोवर में निःशुल्क इलेक्ट्रिसिटी का सहयोग देने की बात कही। इसके साथ ही ब्रह्माकुमारीज संस्थान के वरिष्ठ सदस्यों ने भी सफलता की अपनी शुभकामनाएं दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *