Tue. Aug 20th, 2019

Gujarat

शिक्षा का मूल उद्देश्य है बंधनों से मुक्त और चरित्रवान बनना ये उक्त विचार माउंट आबू से आए वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके भगवान ने गुजरात में वीरपुर के मातोश्री मोगीबा गर्ल्स स्कूल में नैतिक शिक्षा का महत्व विषय पर आयोजित सेमिनार के दौरान कही।

इस मौके पर उपस्थित प्राचार्या आशा जोशी ने बीके सदस्यों का आभार माना तथा राजयोग शिक्षिका बीके जयश्री और बीके उदय ने कठिन परिस्थितियों का सामना करने के लिए मूल्यों को शामिल करने की सलाह दी।

इसके साथ ही श्री जलाराम स्कूल में भी कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें बीके भगवान ने कहा कि जिसके अन्दर मूल्य नहीं है वह मूल्यहीन होता है।

वहीं जैतपुर के सरदार पटेल केलवनी शैक्षणिक सकुल और जैतपुर एकेडमी में भी स्थानीय सेवाकेंद्र द्वारा मूल्यों के महत्व पर चर्चा करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें उपस्थित बीके भगवान ने कहा कि जब तक हमारे व्यवहारिक जीवन में परोपकार, सेवाभाव, त्याग, उदारता जैसे सद्गुण नहीं आते हैं तब तक हमारी शिक्षा अधूरी है।

इस दौरान राजयोग शिक्षिका बीके शांतु, बीके दिनेश, प्राचार्य मनीष संजेलिया समेत अनेक शिक्षकों व बच्चों ने हिस्सा लिया और पूरा-पूरा लाभ लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *