Mon. Oct 21st, 2019

Gujarat

आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहते हैं, इस दिन गुरु पूजा का विधान है। इस दिन से चार महीने तक परिव्राजक साधु-सन्त एक ही स्थान पर रहकर ज्ञान की गंगा बहाते है। अंधकार को हटाकर प्रकाश की ओर ले जाने वाले को ‘गुरु‘ ही कहा जाता है। ऐसे ही गुरु की महिमा और उनके सम्मान में देश भर में ब्रह्माकुमारीज़ के सेवाकेन्द्रों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

गुजरात के नवसारी सेवाकेन्द्र पर बी.जे.पी की महिला मोर्चा की महिलाओं के लिए विशेष.. गुरुपूर्णिमा पर्व के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें नवसारी ज़िला महिला मोर्चा की प्रमुख शीतल सोनी, तालुका प्रमुख मीना पटेल, उप प्रमुख जीनल पटेल, महामंत्री अभिषा मोदी तथा तालुका पंचायत प्रमुख चंचल पटेल समेत अन्य तालुका पंचायत की सभी महिलाएं व कई गांवों की सरपंच बहने भी मुख्य रुप से उपस्थित हुई।

कार्यक्रम में सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके गीता ने सर्व को गुरुपुर्णिमा पर्व का रहस्य समझाते हुए कहा कि गुरु अर्थात् गहन अंधकार से निकालने वाला तथा ज्ञान प्रकाश देने वाला।

वहीं मौके पर मौजूद विशिष्ट महिलाओं ने भी गुरु की महिमा में अपने शब्द बोलते हुए बीके गीता को नमन किया।

इस दौरान राजयोग शिक्षिका बीके अल्पना ने सभी को म्यूज़्यिम का अवलोकन कराते हुए चित्रों का आध्यात्मिक रहस्य बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *