Sat. Oct 31st, 2020

Gujarat

गुजरात के राजकोट में भी पंचशील सोसाईटी सेवाकेंद्र और रवीरत्नापार्क सेवाकेंद्र द्वारा अनेक स्थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया, जिसमें बीके सदस्यों ने बताया कि आज व्यक्ति किसी भी प्रकार के बंधन में बंधना पसंद नहीं करता, लेकिन रक्षाबंधन के पवित्र में अगर कोई बंध जाता है तो उसके मुक्ति के द्वार खुल जाते हैं।

पंचशील सेवाकेंद्र द्वारा अखील भारतीय हिंद महिला परिषद, पुलिस चौकी, स्लम एरिया, काठियावर निरश्रमित बालश्राम, वृदा आश्रम, और सेवाकेंद्र समेत अनेक स्थानों में कार्यक्रमों का आयोजन किया, जिसमें राजयोग शिक्षिका बीके कृपल, बीके किंजल ने राखी के महत्व को बताते हुए रक्षासूत्र बांधा, वहीं पुलिस कर्मिओं को माताओं और बहनों का दिल से सम्मान करने की प्रतिज्ञा कराई तो बच्चों को जीवन में नैतिक मूल्यों की शिक्षा देते हुए राजयोग मेडिटेशन का अभ्यास कराया। इसी क्रम में रविरत्ना पार्क सेवाकेंद्र द्वारा संतोषी मां सरकारी स्कूल में कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके गीता, बीके डिंपल ने बच्चों को नैतिक व दैवीय गुणों की धारणा द्वारा जीवन को कमल पुष्प समान बनाने की शिक्षा दी, और प्राचार्य, स्कूल स्टाफ समेत सभी बच्चों को पवित्रता व सुरक्षा की प्रतीक राखी बांधी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *