Thu. Oct 29th, 2020

तमिलनाडु में तंजावुर की तमिल यूनिवर्सिटी के मूल्य शिक्षा और आध्यात्मिकता पर आधारित डिपलोमा का पहला कॉनवोकेशन कार्यक्रम मदुरई में ब्रह्माकुमारीज़ के विश्व शांति भवन में आयोजित किया गया। इस अवसर पर शिक्षा प्रभाग के अध्यक्ष बीके मृत्युंजय, वैल्यू एजुकेशन प्रोग्राम्स के निदेशक बीके डॉ. पांडयामणी एवं राष्ट्रीय संयोजक बीके जयकुमार, मदुरई सबज़ोन की निदेशिका बीके मीनाक्षी एवं संयोजिका बीके उमा, तमिल यूनिवर्सिटी में मूल्य शिक्षा और आध्यात्मिकता कोर्सिस की संयोजिका बीके ज्ञाना मुख्य रुप से मौजूद थी।

इस अवसर पर बीके मृत्युंजय ने कहा कि वर्तमान समय चुनौतीपूर्ण स्थितियों में युवाओं के समग्र जीवन का विकास करने के लिए गुणों के बारे में जागरुकता लाई जानी चाहिए, तभी युवाओं को गलत रास्ते में जाने से बचाया जा सकेगा, वहीं आगे उन्होंने ये भी बताया कि चुनौतियों का सामना करने के लिए आत्मविश्वास और सामना करने की आवश्यक है।

इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए मूल्य शिक्षा और आध्यात्मिकता पर आधारित डिपलोमा और कॉर्सिस को डिजाइन किया गया है ताकि युवा वर्ग गुणों के प्रति जागरुक हो और अपने जीवन में इसका प्रयोग व अनुभव कर सकें, तमिल यूनिवर्सिटी में इस कोर्स की शुरुआत 2017 में की गई जिसका पहला दीक्षांत समारोह यहां आयोजित किया गया।

कार्यक्रम में मौजूद अन्य विशिष्ट सदस्यों ने भी अपनी शुभकामनाएं दी और कहा कि मूल्यों में गिरावट दुनिया की सभी समस्याओं का मूल कारण है, शांति और खुशी की दुनिया स्थापित करने के लिए हर व्यक्ति को मूल्यों को अपनाना चाहिए।

इस दौरान उत्तीर्ण छात्रों को डिप्लोमा प्रमाण पत्र से नवाज़ा गया, इनमें 78 उम्र की महिला के प्रथम स्थान लेने पर बीके मृत्युजंय समेत अन्य विशिष्ट सदस्यों ने प्रमाण पत्र दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *