Sun. Jul 21st, 2019

Karnataka

कर्नाटक के चित्रदुर्ग सेवाकेंद्र पर गुरूपूर्णिमा के अवसर पर शिक्षकों के सम्मान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर बीके शिवारश्मी ने कहा कि शिक्षकों का कर्त्तव्य सिर्फ बच्चों को भौतिक शिक्षा देना ही नहीं है बल्कि नैतिक शिक्षा के अधार पर उन्हें आंतरिक रूप से सशक्त बनाना भी है, इसके साथ ही कमेंट्री द्वारा राजयोग का अभ्यास कराया।

कार्यक्रम में उपस्थित शिक्षकों ने अपनी खुशी जाहिर की व सदस्यों का आभार माना। अंत में सभी शिक्षकों को सम्मानित किया गया व समाज के निर्माण में उनका क्या महत्व है इससे रूबरू कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *