Tue. Feb 19th, 2019

Karnataka

मीडिया जो भी दिखाती व बताती है उसका लोगों के मन मस्तिष्क पर गहरा असर पड़ता है, इसलिए ये ज़रूरी है कि मीडियाकर्मी हमेशा लोगों के हितों को ध्यान में रखकर ही कोई सूचना व जानकारी दें… मीडियाकर्मियों को उनके दायित्वों के प्रति सचेत करने तथा स्वयं को भी तनावमुक्त बनाने के उद्देश्य से कर्नाटक में दावणगेरे के शिवध्यान मंदिर में मीडिया सेमिनार का आयोजन किया गया।

ब्रह्माकुमारीज़ के मीडिया प्रभाग द्वारा आयोजित इस सम्मेलन का शुभारंभ जिला सूचना अधिकारी डी अशोक कुमार, दावणगेरे विश्वविद्यालय के उपकुलपति डॉ. शरणप्पा वी हलसे, पत्रकार एवं राजनीतिक विशेषज्ञ प्रीति नागराज, मूल्यनिष्ठ मीडिया के राष्ट्रीय संयोजक प्रोफेसर कमल दीक्षित, मीडिया प्रभाग के मुख्यालय संयोजक बीके शांतनु, राष्ट्रीय संयोजक बीके सुशांत, दिल्ली से आई प्रभाग की ज़ोनल काँर्डिनेटर बीके सुनीता, हुबली सबज़ोन के डायरेक्टर बीके डॉ. बसवराज, स्थानीय सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके लीला ने कैंडल लाइटिंग कर किया।

सम्मेलन में मौजूद मीडिया विद्वानों ने मीडिया के मोटिव पर चर्चा की और स्प्रिचुअल वैल्यूज को शामिल करने का आहवान किया।

कर्नाटक मीडिया अकादमी पुरूस्कार से पुरस्कृत अनेकों मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए संस्थान के सदस्यों ने कहा कि सकारात्मक रूप से परिवर्तन लाना ही मीडिया का मुख्य काम है जिसके लिए मीडियाकर्मियों को राजयोग का अभ्यास करना चाहिए।

अंत में बीके सुनीता ने सभी उपस्थित मीडिया विद्वानों को कमेंट्री द्वारा राजयोग का अभ्यास कराया। इस सेमिनार में कर्नाटक माध्यम अकादमी पुरस्कार से पुरस्कृत पत्रकारों का सम्मान किया गया और उन्हें माध्यम सिरि उपाधि भी दी गई इसके अलावा पत्रकारिता पढ़ने वाले विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र देकर उनका उत्साहवर्धन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *