Thu. Oct 29th, 2020

Hyderabad

मेरा भारत स्वर्णिम भारत आध्यात्मिक चित्र प्रदर्शनी बस अभियान द्वारा हैदराबाद में 10 दिनों की अविरल सेवाओं के बाद समापन हो गया इसके समापन कार्यक्रम में 1500 लोगों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया इस कार्यक्रम में पैनल डिस्कसन, मोटीवेशनल टॉक, एक्सपीरियन्स शेयरिंग सत्र का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष न्यायधीष वी.ईश्वरैय्या, एम.एन.आर इंटरनेशनल एजुकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष एम.एन राजू, युवा प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजिका बीके चंद्रिका, मुबंई की संयोजिका बीके शीला, शांति सरोवर की निदेशिका बीके कुलदीप, मोटीवेशनल स्पीकर ई.वी गिरिश, बीके कृति मुख्य रूप से उपस्थित थे।
श्रीमत भगवथ गीता कहती है आप सर्वोत्तम नहीं है आप समानन्तर नहीं है वो कहती है आप अनोखे है, जरूरत है स्वयं को जानने की अपने अंदर की शक्तियों को जागृत करने की स्वयं की सराहना करने की और यह तभी हो सकता है जब हम आध्यात्मिक ज्ञान और राजयोग मेडिटेशन को अपने जीवन में शामिल करें क्योंकि राजयोग ही आत्मा के अंदर के गुण और शक्तियों को जाग्रत करता है।
आपको बता दें यह अभियान हैदराबाद पहुंचने से पहले सिकंदराबाद पहुंचा था जहां वेस्ट मरेडपल्ली सेवाकेंद्र पर इसका भव्य स्वागत तेलंगाना विधान परिषद् के अध्यक्ष के. स्वमी गौढ़, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष न्यायधीश वी ईश्वरैय्या, सेवाकेंद्र प्रभारी बीके मंजू ने किया इस दौरान के. स्वमी गौढ़ ने कहा कि युवाओं का सशक्तिकरण आज समय की मांग है, और इसी विज़न के साथ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरूआत की है, लेकिन ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान ने मेरा भारत स्वच्छ भारत स्लोगन में स्वर्णिम भारत जोड़कर इस अभियान को और खूबशूरत बना दिया इसके बाद उन्होंने अभियान को हरि झंडी दिखाकर आगे के लिए रवानगी दी।
यह अभियान सेवाकेंद्र से निकलकर शहर में जनजागरूकता रैली निकाली साथ ही सिटि सिविल कोर्ट, ईनरटेक इंजीनियरिंग कॉलेज, गवरमेंट वूमेंस डिग्री कॉलेज, कस्तूरबा गांधी कॉलेज, महबूब कॉलेज, आर.टी ऑफिस, स्पोटर्स अकेडमी में कार्यक्रमों का अयोजन किया गया जिसमें अभियान यात्रियों ने चित्रों द्वारा तन व मन की स्वच्छता, सकारात्मक सोच, रायजोग मेडिटेशन, जीवन में नैतिक व आध्यात्मिक मूल्यों के महत्व, स्वर्णिम संसार जैसे विषयों पर लोगों को समझानी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *