Fri. Oct 23rd, 2020

3 Days Silence Retreat

आज टेक्नालॉजी एवं साइंस विकास की चरम सीमा पर है इनके द्वारा बनाये गए साधनों से हम एक स्थान पर रहते हुए पूरी दुनिया की जानकारी ले सकते हैं तथा हज़ारों किलोमीटर दूर बैठें व्यक्ति को देख कर उनसे बात कर सकते हैं लेकिन आज मन की शांति की तलाश सभी को है आज कहीं न कहीं एक ऐसी टेक्नोलॉजी की जरूरत है जो इनर टेक्नोलॉजी हो जिसके द्वारा हम अंतःकरण की यात्रा कर सकें तथा स्वयं के मूल स्वरूप का आनंद ले सकें इन्हीं कुछ विशेष आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए बैंगलोर में जाक्कूर के रिट्रीट सेंटर में आईटी विंग के अंतगर्त आईटी प्रोफेशनल्स के लिए तीन दिवसीय साइलेंस रिट्रीट का आयोजन किया गया जिसमें आईटी क्षेत्र से जुड़े प्रोफेशनल्स एवं सबजोन प्रभारी बीके पदमा समेत वरिष्ठ बीके बहनें मुख्य रूप से मौजूद थीं।
इस रिट्रीट में चेन्नई से आई बीके बहनों ने प्राणायाम, योगासन, पीस वॉक, आत्म अनुभूति एवं परमात्म अनुभूति के साथ रचनात्मक एवं मूल्य आधारित कार्यक्रम कराये जिसमें सभी ने यह जाना कि साईंस के साधन हमें थोड़े समय के लिये सुख की अनुभूति तो करा सकते हैं लेकिन सदा काल के सुख के लिये इनर टेक्नोलॉजी की ज़रूरत है जो केवल आध्यात्मिक मूल्यों और राजयोग द्वारा ही प्राप्त हो सकती है इस दौरान सेल्फ स्टडी करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण विषय दिए गये थे जिस पर सभी ने अपने – अपने विचार लिखे एवं कुछ गेम्स भी कराये गये जिसमें सभी ने रूचि से सहभागिता कर रिट्रीट का लाभ लिया।
इस दौरान आलमाईटी गॉड शिव का परिचय देने के लिये एक यूआरएल बनाया गया था जिसमें बीके सदस्यों ने परमात्मा शिव के बारे में गहराई से जानकारी दी, ऐसे ही एक शुभकामना बैंक के रूप में विश्व के सभी लोगों के स्वास्थ्य व समृद्धि के लिये एक बाक्स भी बनाया गया था जिसमें सभी ने चारों ओर शांति एवं प्रेम का वातावरण बना रहे ऐसी कामना की ।
इस मौके पर ऐसे कई छोटे – छोटे कार्यक्रम किये गये थे जिसमें जीवन के मूल्य जैसे शांत व प्रसन्न रहें, सकारात्मक सोच को बढ़ाएं, सहनशीलता, आपसी प्यार, सहयोग, खुशी, शक्ति, उदारता एवं धैयता जैसे मूल्यों को अपनाने का आह्वान किया गया। इस रिट्रीट का लाभ साठ से अधिक प्रतिभागियों ने लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *