Tue. Oct 20th, 2020

एक्सीलेंस कक्षाओं में नहीं सिखाई जा सकती यह तब आती है जब सब मिलकर अपने उद्देश्य को पर्सनल व प्रोफेशलन लेवल पर पूरा करते हैं इस बात को ध्यान में रखते हुए गुरूग्राम के ओम् शांति रिट्रीट सेंटर पर ‘सस्टेनिंग एक्सीलेंस’ विषय पर सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें इंडियन ऑयल, सीबीआई, नेशनल एयरपोर्ट अथारिटी, बीएसएनएल, एनटीपीसी, इंडियन रेल्वे, डीडीए समेत अनेक पब्लिक सर्विस सेक्टर के अधिकारीयों के लिए एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
लगभग 40 कम्पनीयों के 150 से अधिक भाग लेने आए अधिकारीयों को ओआरसी की निदेशिका बीके आशा ने भेड़चाल से अलग कार्य करने के लिए प्रेरित किया वहीं जीवन प्रबंधन विशेषज्ञ बीके शिवानी ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति के अंदर अनंत शक्तियां हैं लेकिन इस्तेमाल न करने की वजह से हम भूल गये हैं, जिसके कारण आज हमारें उपर परिस्थिति व दूसरों की व्यवहार का बहुत गहरा प्रभाव पडता है, और हम तनाव में आ जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *