Sun. Oct 25th, 2020

सच्ची खुशी के लिए बेहतर प्रबंधन ज़रुरी है जिसके लिए आध्यात्मिकता ही वो ज़रिया है जो जीवन को बेहतर दिशा प्रदान कर सकता है और आध्यात्मिक सशक्तिकरण से ही आतंरिक शक्तियों का विकास सम्भव है इन्हीं कुछ बातों का आदान-प्रदान हुआ गुरुग्राम के ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर में.. जहां व्यापार जगत से जुड़ी कई बड़ी हस्तियां मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुई।
ओआरसी में व्यापारियों एवं उद्योगपतियों के लिए दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन हुआ, जिसका विषय रहा मैनेजिंग द् बिज़ेनस ऑफ़ लाईफ फॉर ट्रू हैप्पीनेस। जिसका उद्घाटन भारतीय उद्योग परिसंघ की तकनीकी सलाहकार व उपमहानिदेशिका सरिता नागपाल, वी-मार्ट के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक ललित अग्रवाल, एम.3.एम ग्रुप के फाउण्डर चैयरमेन बसंत बंसल एवं प्रसिद्ध सामजसेवी तथा व्यापारी घनश्याम गुप्ता तथा संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन, व्यापार एवं उद्योग प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजिका बीके योगिनी, ओआरसी की निदेशिका बीके आशा समेत अन्य कई वरिष्ठ पदाधिकारियों ने दीप प्रज्वलन कर किया।
इस मौके पर मौजूद संस्था के सदस्यों ने खुशी को आत्मा का निजि गुण बताते हुए.. दाता पन के भाव को उत्पन्न करने पर ज़ोर दिया। इस अवसर पर अन्य मुख्य अतिथियों ने भी आयोजित विषय पर अपने विचार व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *