Mon. Oct 19th, 2020

Varanasi, UP

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भारत सरकार की ओर से त्रिदिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन का आयोजन हुआ, आध्यात्म एवं संस्कृति की राजधानी काशी में पहली बार 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन में दुनिया के अनेक देशों से आए प्रतिनिधियों ने सहभागिता की। वहीं भारत सरकार के निमंत्रण पर कुवैत से बीके अरुणा ने क्षेत्रीय कार्यालय सारनाथ के वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके दीपेन्द्र, बीके विपिन तथा बीके तापोशी के साथ कार्यक्रम में हिस्सा लेकर संस्था का प्रतिनिधित्व किया।

भारत की मिट्टी से जुड़ी हुई अपनी जड़ों को तलाशनी एवं विश्व में अपनी अनोखी पहचान बनाने में सफल विश्व गुरु भारत की प्राचीन सभ्यता एवं संस्कृति से रुबरु होने की ललक लिए अपने पूर्वजों की जन्मभूमि पहुंचे प्रवासी भारतीयों ने काशी के जन-मानस एवं भारत सरकार की मेहमाननवाज़ी का जमकर लुत्फ उठाया।

इस मौके पर आए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मिलकर उनके सुस्वास्थ्य की कामाना के साथ कार्यक्र की सफलता के लिए बधाई दी और ईश्वरीय सौगात भेंट की।

सम्मेलन के अंतिम दिन बीके अरुणा समेत अन्य बीके सदस्यों ने यूपी के न्याय, विधि, युवा एवं खेल राज्यमंत्री डॉ. नीलकण्ठ तिवारी, सैनिक कल्याण, खाद्य प्रसंस्करण, होमगार्ड्स, नागरिक सुरक्षा राज्यमंत्री अनिल राजभर समेत अन्य कई राजनितिज्ञों से भी मुलाकात कर ईश्वरीय सौगात भेंटकर की और परमात्मा का संदेश देते हुए मुख्यालय आने का निमंत्रण दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *