Sat. Oct 24th, 2020

Uttar Pradesh

इलाहाबाद के कीडगंज सेवाकेंद्र द्वारा इलावर्त होटल में न्यायविद सम्मेलन संपन्न हुआ। संस्था के न्यायविद प्रभाग के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित इस कार्यक्रम का शुभारंभ म.प्र उच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति बीडी राठी, न्यायमूर्ति राम सूरत राम मौर्या, न्यायमूर्ति विजयलक्ष्मी, न्यायमूर्ति सुधीर नारायण अग्रवाल, दिल्ली से आई प्रभाग की अध्यक्षा बीके पुष्पा, मुख्यालय संयोजिका बीके लता, लखनउ के गोमती नगर सेवाकेंद्र प्रभारी बीके राधा, इलाहाबाद सबज़ोन प्रभारी बीके मनोरमा समेत प्रभाग के अनेक सदस्यों ने कैंडल लाइटिंग कर किया।

इस मौके पर न्यायमूर्ति बी डी राठी ने कहा कि हमारा हर कर्म हमारे विचारों पर निर्भर करता है इसलिए अपने विचारों को सुविचार बनाना आवश्यक है। साथ ही न्यायमूर्ति राम सूरज राम ने बताया कि खुशी सिर्फ भौतिक विकास से नहीं मिलती। सच्ची खुशी आंतरिक विकास से मिलती है।

इस सम्मेलन में मुख्य वक्ता बीके पुष्पा और बीके मनोरमा ने कहा कि खुशी बाहर की परिस्थितियों पर निर्भर नहीं करती है….वहीं बीके लता ने अपने जीवन के अनुभवों के आधार पर राजयोग सीखने की प्रेरणा देते हुए बताया कि यदि हमारी दिनचर्या आध्यात्मिक होगी तो हम अनेक कमज़ोरियों से स्वतः ही मुक्त हो जाएंगे।

इस सम्मेलन के अगले सत्र में प्रभाग की सदस्या बीके अमिता ने पावर ऑफ साइलेंस की व्यवहारिक अनुभूति कराई और प्रदेश के विधयी मंत्री ब्रजेश पाठक ने ब्रहाकुमारीज द्वारा चलाए जा रहे अभियान से सभी को जुड़ने का आहवान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *