Wed. Oct 16th, 2019

नए वर्ष के आगमन से पूर्व ही हरियाणा वासियों को जैसे खुशियों की सौगात मिल गई हो जी हां हम बात कर रहे है सोनीपत रिट्रीट सेन्टर की। ब्रह्माकुमारीज़ संस्था की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी हरियाणा प्रवास के दौरान 103वर्ष की उम्र में भी बिना रुके, बिना थके, हिसार, हांसी के बाद.. सोनीपत के कार्यक्रम में शरीक होने पहुंची, उनकी अगवानी खुद सूबे के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने की।

चंद लोगों के नहीं विश्व की करोड़ों मनुष्य आत्माओं के दिलों पर राज करने वाली दादी जानकी के सिर्फ दर्शन मात्र से ही लोगों के चहरे मुस्कुरा उठते है ऐसा ही नज़ारा देखने को मिला जब मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दादी जी का हाथ पकड़कर संस्थान के सोनीपत रिट्रीट सेन्टर में शिरकत की तो नज़ारा ऐसा था मानो एक बेटे ने अपनी मां का हाथ पकड़ा हो।

अवसर था दादी जानकी ऑडिटोरियम के उद्घाटन एवं सोनीपत रिट्रीट सेन्टर के 5वें वार्षिकोत्सव का इस मौके को और खास बनाने के लिए महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन, सांसद रमेश कौशिक, संस्था में पंजाब ज़ोन के निदेशक बीके अमीरचंद, पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए.के. जिंदल, सोनीपत के उपायुक्त विनय सिंह और पुलिस अधीक्षक प्रतीक्षा गोदारा सहित सैकड़ों गणमान्य व्यक्तियों ने शिरकत की।

इस दौरान दादी जानकी एवं मुख्यमंत्री ने शिवध्वजारोहण किया और अनावरण कर ऑडिटोरियम का भव्य उद्घाटन सम्पन्न किया। वहीं इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में राजयोगिनी दादी जानकी ने अपने अमृतवचनों की वर्षा की। साथ ही स्टेज पर विराजमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत अन्य पदाधिकारियों को आत्मा, परमात्मा तथा आत्मा की अष्ट शक्तियों और 5 गुणों का ज्ञान दिया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दादी जानकी के हरियाणा आने पर उनका स्वागत किया, आगे दादी जी की दीर्घायु की कामना करते हुए कहा कि प्रभु आपको हमारे मार्गदर्शन के लिए लम्बा समय प्रदान करें।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस केन्द्र के बनने से समाज में श्रेष्ठ बदलाव आएगा और यहां की आभा और निखरेगी। आगे उन्होंने ये भी स्पष्ट कर दिया कि ब्रह्माकुमारीज़ कोई धर्म नहीं अपितू आध्यात्मिक विचार है।

उन्होंने ये भी कहा कि सकारात्मक सोच ही मानव कल्याण की पूंजी है, आज विश्व में पूरी ओर तरह तरह की अनेक समस्याएं हमारे सामने चुनौतियां बनकर खड़ी हैं। इन चुनौतियों से निपटने के लिए हमारा मनोबल मज़बूत होना चाहिए जो आध्यात्म से ही सम्भव है।

इस दौरान भवन के निर्माण में दादी जानकी से बात करते हुए उन्होंने मदद का आश्वासन भी दिया।

कार्यक्रम में बीके अमीरचंद ने बताया कि दादी जानकी के संकल्प अनुसार उत्तरी भारत के हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और जम्मू एण्ड कश्मीर के क्षेत्रों की ईश्वरीय सेवाएं करने के लक्ष्य को लेकर यहां दादी जानकी ऑडिटोरियम का भव्य निर्माण किया गया है।

इस कार्यक्रम के समापन में दादी ने मुख्यमंत्री समेत अन्य मुख्य अतिथियों को ईश्वरीय सौगात भेंटकर एवं शॉल ओढ़ाकर सम्मान दिया। इस पूरे कार्यक्रम में चण्डीगढ़ सेक्टर-33 ए की प्रभारी बीके उत्तरा, सोनीपत रिट्रीट सेन्टर की प्रभारी बीके संगीता, पानीपत सर्किल प्रभारी बीके सरला समेत पंजाब ज़ोन से कई वरिष्ठ सदस्य की मुख्य मौजूदगी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *