Fri. Oct 23rd, 2020

Rajsthan

माउंट आबू के ज्ञानसरोवर में खिलाड़ीयों के उच्च प्रदर्शन में राजयोग का भूमिका विषय पर शिविर इंडीयन ओलम्पिक एसोसिएशन के महासचिव राजीव मेहता, वड़नगर से इंडियन रेडक्रास सोसाइटी के अध्यक्ष कमलेश एच. त्रिवेदी, गुजरात लेजिलेटिव एसेम्बली से भरत सिंह एस धाबी, खेल प्रभाग की अध्यक्षा बीके शशी, खेल प्रभाग के मुख्यालय संयोजक बीके जगबीर की उपस्थिति में शुभारंभ हुआ।
एक खिलाड़ी बनने के लिए शारीरिक तौर पर स्वस्थ होना बेसक अनिवार्य हैं, लेकिन एक खिलाड़ी से विजेता बनने के लिए मन का शक्तिशाली और बुद्धि का एकाग्र होना बेहद आवश्यक है, ऐसा कहना था वरिष्ठ राजयोगी बीके सूरज का वो शिविर में आए लोगों को राजयोग के लाभ बता रहे थे इसी चर्चा को आगे बड़ाते हुए बीके जगबीर ने लोगों राजयोग द्वारा विजुअलाइजेशन टेक्निक के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
चार दिवसीय इस शिविर में जानकारों ने लोगो को आर्ट ऑफ़ विनिंग, अ की ऑफ़ सक्सेज़, मोटीवेशन, टीम स्पिरिट, मैनेजिंग स्ट्रेस, द पॉवर ऑफ़ विद इन जैसे विषयों पर प्रकाश डाला।
वहीं समापन सत्र में जानकारों ने कहा कि खेल से सिर्फ पदक प्राप्त ही नहीं होता बल्कि तन, मन स्वस्थ रहता है और खिलाड़ी के टीम भावना, सहयोग करना, चुनौतियों का सामना करना, हार को जीत में तब्दील करने की कला जैसी अनेको कलाएं विकसित हो जाती है इन कलाओं का केवल स्पोर्टस में ही नहीं बल्कि जीवन के हर क्षेत्र में आवश्यकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *