Sat. Oct 19th, 2019

Rajasthan

प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान जाती, धर्म, अमिरी, गरीबी, रंग भेद जैसी तमाम सीमाओं को दरकिनार करते हुए आध्यात्मिक ज्ञान का प्रचार प्रसार पिछले 82 वर्षो से करता चला आ रहा है लेकिन अब संस्था के इतिहास में एक और नया आयाम जुड़ गया है क्योंकि अब दृष्टि बाधित लोग भी राजयोग की शिक्षा और प्रशिक्षण ले पाऐगें जिसकी शुरूआत संस्था के मुख्यालय शांतिवन के मनमोहिनीवन स्थित ग्लोबल ऑडिटोरियम में कर दी गयी यहां दृष्टि बाधित लोगों के लिए एक दिवसीय शिविर का आयोजन किया गया था जिसका बड़ौदा की एसोसिएशन फॉर द ब्लाइंड के 35 सदस्यों ने लाभ लिया….
शिविर में राजयोग के सात दिवसीय आध्यात्मिक चित्र प्रदर्शनी के मॉडल इस तरह से तैयार किए गये थे जिसे छूकर वे इसकी गुह्यता को समझ सके वहीं राजकोट की बीके शीतल ने कमेंट्री द्वारा राजयोग का अभ्यास कराया
इस दौरान एशोसियेशन फॉर द ब्लाइंड के सचिव के.आई गिरी भी मौजूद थे उन्होंने अपने अनुभव में बताया कि इस आध्यात्मिक ज्ञान द्वारा निश्चित तौर पर हमारी मानसिक कठिनाईयां दूर होंगी और हम इस ज्ञान और योग को अपनी जीवनशैली में जरूर शामिल करेंगे प्रोजैक्ट के कोआर्डिनेटर बीके सूर्यामणि ने दृष्टि बाधित लोगों की उन्नति हेतु ब्रेल लिपि राजयोग के सप्ताहिक कोर्स की पुस्तक ब्लाइंड संघ के सचिव के आई गिरी को भेंट की।
स्वच्छ भारत अभियान के अंतगर्त संस्थान व दिल्ली की कारचर क्लीनिंग प्राइवेट लिमिटेड कम्पनी के संयुक्त तत्वाधान में ट्रेनिंग प्रोग्राम का भी आयोजन किया गया था जिसमें ट्रेनर देवेंद्र सिंह, बिजनेस डेवलेपर सुरंजना मुखर्जी, मेडिकल प्रभाग के कार्यकारी सचिव बीके बनारसी लाल, मुख्य अभियंता बीके भरत, पीस न्यूज़ विभाग के विभागाध्यक्ष बीके कोमल मुख्य रूप से मौजूद थे।
प्रशिक्षण के दौरान देवेंद्र सिंह ने जीवन में स्वच्छता का महत्व बताते हुए स्वयं की सुरक्षा, स्थान की सुरक्षा एवं सेवा साथियों की सुरक्षा को प्राथमिकता देने की बात कही वहीं बीके बनारसी लाल एवं बीके भरत ने भी बाहरी स्वच्छता के साथ-साथ मन को स्वच्छ बनाने का आह्वाहन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *