Thu. Oct 22nd, 2020

Rajasthan

कहते हैं आंख है तो जहान है। परमात्मा द्वारा दिया हुआ जीवन का अमूल्य उपहार है, यदि आंख खराब हो जाये तो चारां तरफ अंधेरा ही अंधेरा नजर आता है परन्तु यदि वापस रोशनी मिल जाये तो जन्नत से कम नहीं। ऐसी ही रोशनी देने का कार्य कर रहा है ग्लोबल हॉस्पिटल का नेत्र अस्पताल। राजस्थान के भीनमाल के प्रभु वरदान भवन सेवाकेंद्र पर एक सौ पांचवा विशाल निशुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर में कई जरुरत मंद लोगों को आंखों की रोशनी दी गयी। जिससे उनके जीवन में हमेशा के लिए उजाला हो गया। जिसका शुभारंभ भारत विकास परिषद के पूर्व अध्यक्ष नैनाराम, समाजसेवी पृथ्वीराज कावेदी, पार्षद गुमान सिंह, माउंट आबू से आये बीके जगदीश एवं सेवाकेंद्र प्रभारी बीके गीता समेत बीके हंसा ने दीप जलाकर किया ।

इस अवसर पर उपस्थित अतिथियों ने अपने विचार व्यक्त किये एवं ब्रह्माकुमारीज द्वारा की जाने वाली सामाज सेवाओं की सराहना की वहीं बीके गीता ने शिविर में आये हुये अतिथियों को परमात्मा ज्ञान देते हुये कहा कि इन दो नेत्रों से हम संसार को देख सकते हैं लेकिन परमात्मा पिता जो ज्ञान का तीसरा नेत्र देते है उससे हम अपने कर्मों को श्रेष्ठ बना सकते हैं तथा वर्तमान व भविष्य को देख सकते हैं।

इस दौरान नेत्र चिकित्सकों ने शिविर में आये लोगों के नेत्र परीक्षण कर उचित परामर्श दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *