Thu. Nov 14th, 2019

Rajasthan

अच्छा जीवन जीने के लिए खुश होना बेहद जरूरी है लेकिन दुर्भाग्य से ज्यादातर लोगो के जीवन से खुशी गायब हो चुकी है वे लोग इसे पैसे में, लोगों में और कामयाबी में ढूढ़तें हैं लेकिन अगर आप किसी आध्यात्म के जानकार से पूछेंगे तो उसका कहना होगा खुशी ऐसी चीज है जिसे आप अंदर से महसूस कर सकते हो लेकिन बाहर से नहीं इसी के चलते लोगों को आध्यात्मिकता द्वारा हैल्थ, वैल्थ और हैप्पीनस प्राप्त के रहस्य से अवगत कराने के लिए उदयपुर के विलास वाटिका में हैल्थ, वैल्थ और हैप्पिनस फेस्टिल का आयोजन किया गया था।
इस फेस्टिवल में 25 से अधिक कक्ष बनाए गये थे जिसमें 32 फीट उंचा रावण का पुतला, 22 फीट उंचा गुब्बारें का शिवलिंग, स्वर्ग का दर्शन, आध्यात्म और विज्ञान का आपसी सामंजस्य कक्ष, भगवान को पत्र लेखन कक्ष, सृष्टि चक्र दर्शन कक्ष, परमात्म दर्शन और मेडिटेशन कक्ष आकर्षण का केंद्र रहा जिसका अवलोकन संस्था के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, शांतिवन प्रबंधक बीके भूपाल समेत वरिष्ठ पदाधिकारियों ने किया इस दौरान कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था जिसमें महापौर चंद्रसिंह कोठारी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए बीके मृत्युंजय ने फेस्टिवल का मकसद बताते हुए कहाकि आज मनुष्य को ऐसा ज्ञान चाहिए जिससे वह अपना आदि मध्य और अंत जान सके और अपने संस्कार भी बदल सके
फेस्टिवल से पहले प्रतापनगर स्थित नवनिर्मित ज्ञान योग अनुभूति भवन का उद्घाटन संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी, शांतिवन कार्यक्रम प्रबंधिका बीके मुन्नी, मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष बीके करूणा, कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, शांतिवन प्रबंधक बीके भूपाल, वैज्ञानिक एवं अभियंता प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके मोहन सिंघल, शांतिवन आवास निवास के प्रभारी बीके देव की उपस्थिति में शिवध्वज फहराकर व अनावरण कर किया गया।
उद्घाटन के पश्चात् दादी ने भवन का अवलोकन किया और सभी ने इस भवन के प्रति अपनी शुभभावनाएं व्यक्त की
अंत में सभी मधुबन से आए वरिष्ठ पदाधिकारियों का सम्मान किया गया और पदाधिकारियों ने बीके विजय और बीके पदमा को बेहद के घर मधुबन की ओर से सौगात भेंट की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *