Thu. Oct 22nd, 2020

Rajasthan

जयपुर में ज्ञानदीप भवन एवं मूल्य शिक्षा एवं प्रशिक्षण केंद्र के उदघाटन अवसर पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी, राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा, संस्था के शिक्षा प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके मृत्युंजय, जयपुर सबज़ोन प्रभारी बीके सुषमा की उपस्थिति में दीप जलाकर हुआ।
इस भव्य कार्यक्रम से पूर्व दादी जी ने भवन का उद्घाटन रिबन काटकर और झंडा रोहण कर किया था।
उद्घाटन के पश्चात राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने अपनी भावनाअें व्यक्त करते हुए कहा कि मैंने कभी भगवान को नहीं देखा लेकिन जब जब इन बहनों को देखती हूं उसका नूर इनमें दिखाई देता है, ये एकदम फरिस्ते लगते हैं।

ब्रह्माकुमारीज़ संस्था एक ऐसी संस्था है, जहां भटको को मंजिल और शांति की प्यासी आत्माओं की प्यास मिट जाती है इसलिए जैसे ही इस तरह के पुनीत कार्यक्रमों में ये बहनें मुझे बुलाती हैं, मैं बिना सोचे समझे शामिल होने चली आती हूं
वहीं कार्यक्रम में दादी रतनमोहिनी जी ने उदाहरण देकर समझाया कि अगर हमारा बच्चा हमारी बात न मानें तो हमें कैसे लगेगा उसी प्रकार हम भी उस परमपिता परमात्मा की संतान हैं और अगर हम उनकी श्रीमत अनुसार नहीं चलते तो उन्हें कैसा लगता।

मौक पर राज्यमंत्री राजकुमार रिणवा ने मूल्यानुगत शिक्षा को उपयोगी बताते हुए कहा कि यह शिक्षा हमें न केवल अच्छे संस्कार देती है बल्कि जीवन जीने की कला भी सिखाती है, साथ ही बीके मृत्युंजय ने आज के समाज में मूल्यानुगत शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला…..
अंत में सभी अतिथियों का शाल ओढ़ाकर व ईश्वरीय सौगात भेंटकर सम्मान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *