Sat. Oct 31st, 2020

Rajasthan

राजस्थान में चित्तौड़गढ़ के सुख सेवा संस्थान नशा मुक्ति केंद्र में तनाव मुक्ति से व्यसन मुक्ति विषय पर माउंट आबू से आए वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके भगवान ने कहा कि 70 प्रतिशत लोग व्यसन का सेवन तनाव से मुक्त रहने के लिए करते हैं और व्यसनी हो जाते हैं, उसके बाद भी तनाव से मुक्ति नहीं मिलती और मिलेगी भी कैसे क्योंकि तनाव का कारण है नकारात्मक चिंतन जो सिर्फ जायेगा राजयोग के अभ्यास से
इस दौरान कार्यशाला में मौजूद केंद्र के संचालक पवन पारिक ने कार्यक्रम की सराहना करते हुए इसे उपयोगी बताया।
इसी क्रम में चित्तौड़गढ़ के बासी गांव स्थित लक्ष्य सेंट्रल एकेडमी उच्च माध्यमिक विद्यालय में ‘सकारात्मक विचारों द्वारा नैतिक मूल्य’ विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें बीके भगवान ने नैतिक मूल्यों के बिना शिक्षा को अधूरी बताया
इस कार्यशाला के दौरान सह प्रिंसिपल अंकित दीक्षित, व्याख्याता देवीलाल , स्थानीय सेवाकेंद्र से बीके वर्षा भी मौजूद थी और उन्होंने अपने विचार भी व्यक्त किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *