Wed. May 22nd, 2019

Rajasthan

भले ही देशभर में मिट्टी से बनी तमाम तरह की आकर्षक देवियों की मूर्तियों के बीच नवरात्रि अपने अपने तरह से मनाया गया हो लेकिन जयपुर के राजापार्क में सजी चैतन्य देवियों के दरबार ने पूरे शहर को अपनी ओर आकर्षित कर लिया। जीवंत हाव भाव और प्रदर्शन से खुद, सूबे की सीएम वसुंधरा राजे सिंधिया भी अछूती नहीं रही और आरती उतारने तथा आशिर्वाद लेने पहुंची। कई मंत्रियों और सरकारी लवाजमों के बीच सीएम ने आरती उतारी और प्रदेश में बेटियों के सशक्तिकरण और खुशहाली का आशिर्वाद लिया।

नवरात्रि पर सजे पंडाल में हजारो लोगों के बीच का दृश्य कुछ अलग ही था। भारी भीड़ के बीच सीएम वसुंधरा राजे ने कहा कि बेहतर समाज के लिए नारी का बेहतर होना सबसे ज्यादा जरूरी है, क्योंकि नारी का विकास ही प्रदेश का और देश का विकास असली विकास है  ।

यही नहीं उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस बात में अगर कोई सबसे अधिक भाग्यशाली प्रदेश है तो वो है राजस्थान क्योंकि इस प्रदेश की मुख्यमंत्री स्वयं महिला शक्ति वसुंधरा राजे हैं और 140 देशों में फैले सबसे बड़े आध्यात्मिक संस्थान का मुख्यालय है

 

गौरतलब है कि विश्वव्यापी आध्यात्मिक संस्थान की मुखिया 103 वर्षीय राजयोगिनी दादी जानकी है जो स्वच्छ भारत मिशन की ब्रांड अम्बेसडर भी है जो राजस्थान के लिए गौरव की बात है।

इस मौके पर सांसद रामचरण बोहरा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन लाल सैनी, भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष मधु शर्मा, महापौर अशोक लोहाटी, विधायक अशोक परनामी, राजापार्क सबज़ोन प्रभारी बीके पूनम मुख्य रूप से मौजूद थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *