Thu. Oct 17th, 2019

Rajasthan

ब्रह्माकुमारीज संस्थान माउंट आबू के ज्ञान सरोवर में हुए रिजुवनेट, इनोवेट इंटीग्रेट विषय पर 12वीं एसआईआर कॉन्फ्रेंस कम मेडिटेशन रिट्रीट का शुभारंभ नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के सारस्वत, आईएचआरओ में लीगल एंड डीजी के ग्लोबल चेयरमैन डॉ. रोमेश गौतम, डीआरडीओ में इनमास के साइंटिस्ट डॉ. सुशील चंद्रा, 11 वर्षीय सोशल इनोवेटर हिमांग वेल्लोर, संस्था के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, स्पार्क विंग की अध्यक्षा बीके अंबिका, ओआरसी की निदेशिका बीके आशा समेत प्रभाग के अन्य सदस्यों ने कैंडल लाइटिंग कर किया।

सम्मेलन में विद्वानों को संबोधित करते हुए अतिथियों ने कहा कि आध्यात्मिकता का संबंध मनुष्य के नैतिक गुणों से है जो जीवन में धारण करना अत्यंत ज़रूरी है, इसके साथ ही संस्थान में महिला सशक्तिकरण व स्वावलंबन का जो प्रत्यक्ष उदाहरण उन्हें देखने को मिला उसकी जमकर सराहना की।

मौके पर मौजूद बीके आशा ने जीवन में सच्ची खुशी व शांति पाने के लिए एप्रिसिएशन और एक्सेप्टेंस जैसे गुणों का होना ज़रूरी बताया तथा अन्य विशिष्ट लोगों ने इस बात का समर्थन करते हुए कार्यक्रम के आयोजन को सराहा।

यंग अचीवर, रोबोटिक्स, ड्रोन रेसर, इथिकल हैकर, रॉकेट लॉन्चर और यंगेस्ट मोटिवेटर के नाम से मशहूर 11 वर्षीय हेमांग वेल्लोर भी इस सम्मेलन में उपस्थित रहे और अपने वकतव्य से सभी को मोटिवेट करते हुए अपने जीवन के अनुभव शेयर किए।

4 दिवसीय कॉन्फ्रेंस कम मेडिटेशन रिट्रीट के दौरान पैनल डिस्कशन का भी आयोजन किया गया। जिसमें अचीविंग वर्क लाइफ बैलेंस विषय पर संस्थान के वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके सूरज तथा अन्य सदस्यों ने खुलकर चर्चा की।

कार्यक्रम में अतिथियों का मनोरंजन करने व भारतीय संस्कृति व कला की झलकियां दिखाने के लक्ष्य से कलाकारों ने सुंदर सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *