Sun. Oct 20th, 2019

ORC, Gurugram, Haryana

गुरुग्राम का ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर ईश्वरीय सेवाओं का कारवां बढ़ाते हुए अपने 18वें वर्ष में पहुंच गया है वर्ष 2018 में ओआरसी की 18वीं वर्षगांठ बहुत ही धूमधाम से मनाई गई। इस कार्यक्रम में संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने मुख्य रुप से शिरकत की।

‘ओएसिस ऑफ ब्लीस‘ विषय पर आयोजित इस कार्यक्रम में गुरुग्राम की मेयर मधु आचार्य, दिल्ली पुलिस के अतिरिक्त आयुक्त ऋषिपाल, संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन, ओआरसी की निदेशिका बीके आशा, अन्य प्रदेशों से आए संस्थान के वरिष्ठ सदस्यों में रायपुर की क्षेत्रीय निदेशिका बीके कमला, अहमदाबाद के अम्बावाड़ी सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके शारदा, गुजरात के मेहसाना सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके सरला, दिल्ली पाण्डव भवन की प्रभारी बीके पुष्पा समेत अन्य कई वरिष्ठ पदाधिकारियों ने 18वीं वर्षगांठ पर खास बना 18 फीट लम्बा 118 किली का केक काटकर सभी को अपनी शुभकामनाएं दी।

जहाँ ओआरसी की 18 विशेषताओं को दर्शाने वाले गीत, नृत्य और कविता ने जनसमूह को भाव-विभोर किया, वहीं राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने अपने आशीर्वचनों द्वारा पूरी सभा को सच्ची शान्ति की अनुभूति के लिए स्वयं के वास्तविक स्वरूप में स्थित होना ज़रुरी बताया।

इस मौके पर बीके आशा ने रिट्रीट सेंटर द्वारा की जा रही सेवाओं की जानकारी दी तो वहीं बीके बृजमोहन ने सभी बीके भाई-बहनों के दिल से सरेंडर होने को सेवाओं में हुई वृद्धि का आधार बताया।

इसी कड़ी में आगे मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद अतिरिक्त आयुक्त ऋषिपाल ने संस्थान द्वारा की जा रही सेवाओं की सराहना की, वही मेयर मधु आचार्य ने संस्थान के सेवाकेंद्रों को अपने अंदर शुद्ध एवं श्रेष्ठ विचारों का संचार कर मन को शक्तिशाली बनाने का स्त्रोत बताया।

आगे संस्था के कई अन्य वरिष्ठ बीके बहनों ने भी अपनी शुभ-कामनाएं व्यक्त की, इस सेलिब्रेशन में 5000 से भी अधिक लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *