Thu. Oct 17th, 2019

ORC, Gurugram, Haryana

कहा जाता है.. जब परमात्मा ने मनुष्य को रचा तो उसने खुद के समान रचा अर्थात् मनुष्य को देवी देवता के समान बनाया। ये कहना था.. बीके आशा का.. गुरुग्राम के ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर की निदेशिका बीके आशा ने मेडिटेशन फॅार इनर स्टेबिलिटी थीम पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान मौजूद लोगों को उदाहरणों के माध्यम से ये स्पष्ट किया कि परमात्मा की रचना आज के मनुष्य नहीं.. बल्कि सतयुग के प्रिंस प्रिंसिस थे।

एमवे के टॉप लीडर्स एवं अन्य कई कम्पनियों के डायरेक्टर, वाइस प्रेज़िडेन्टस एवं सीईओ‘ज़.. इन कार्यक्रम में शामिल हुए, जिन्हें राजयोग के अभ्यास द्वारा आन्तरिक स्थिरता को बनाने की कला सिखाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *