Wed. Oct 16th, 2019

Lucknow, Uttar Pradesh

यूपी की राजधानी लखनऊ में हर वर्ष लखनऊ महोत्सव का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष प्रशासन ने इस महोत्सव को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम पर समर्पित करते हुए इसकी थीम ‘अटल विरासत, अटल संस्कृति‘ से निर्धारित की और महोत्सव के अन्दर एक विशाल ‘अटल गांव‘ बनाया गया, इस गांव में ग्रामीण परम्परा, संस्कृति एवं विज्ञान का अद्भुत संगम प्रदर्शित किया गया।

इसी के चलते ज़िला प्रशासन के आमंत्रण पर ब्रह्माकुमारीज़ के त्रिपाठी नगर सेवाकेन्द्र द्वारा ‘सम्पूर्ण सुख शान्ति का आधार, शाश्वत यौगिक खेती‘ का पंडाल अटल गांव में लगाया गया। जिसका कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, यूपी कृषि निदेशक सोराज सिंह, उप कृषि निदेशक सी.पी. श्रीवास्तव, अपर कृषि निदेशक राम शब्द जैसवारा ने अवलोकन कर किसानों के कल्याण के लिए किए जा रहे इस अनूठे प्रयास को खूब सराहा। इस दौरान सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके इन्द्रा तथा वरिष्ठ राजयोग शिक्षक बीके ब्रदी विशाल ने परमात्मा का परिचय देते हुए ईश्वरीय सौगात भेंट की।

इस पंडाल में बेहद आकर्षक और प्रेरणादायक प्रदर्शनी का आयोजन किया गया, जिसमें यह सिद्ध कर दिखाया गया कि हमारी प्राचीन परम्परायें कितनी वैज्ञानिक थीं, रसायनिक खेती का दुष्प्रभाव कितना भयानक है और वर्तमान में यौगिक खेती एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा हम अन्न और मन की शुद्धि कर सम्पूर्ण सुख शान्ति प्राप्त कर सकते हैं। 11 दिनों तक चले इस महोत्सव में यौगिक खेती के आकर्षक स्टालों का दो लाख से अधिक लोगों ने अवलोकन किया। जिसके अन्तिम दिन कनाडा से आए पर्यटकों ने भी यौगिक खेती के स्टाल पर विशेष रुचि दिखाई और कई जानकारियां प्राप्त की।

इस महोत्सव का समापन यूपी के राज्यपाल राम नाइक ने अटल गांव में आकर किया। जिसके बाद उन्होंने कई स्टॉल्स का विज़िट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *