Fri. Oct 23rd, 2020

Lucknow, Uttar Pradesh

भले ही समय विषम है, दौर कठिन है लेकिन निराशा, हताशा या उदास होने का नहीं है सद्भाव, संयम, सहिष्णुता और सकारात्मकता ही जीवन में सुंदर परिवर्तन ला सकते हैं और इसे बढ़ावा देने में धर्म व आध्यात्म एक महत्वपूर्ण ज़रिया है इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए लखनउ के गोमती नगर सेवाकेंद्र द्वारा सभी मुख्य धर्मों के प्रतिनिधियों के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए स्नेह मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम की शुरूआत में सेवाकेंद्र प्रभारी बीके राधा ने कहा कि पूरा विश्व एक परिवार है और हम सभी धार्मिक गुरूओं का कर्तव्य है सभी को सही दिशा दिखाना, हमें प्रकृति के साथ सामंजस्य बिठाते हुए सकारात्मक सोच, उम्मीद और उत्साह के साथ आगे बढ़ना होगा इसके साथ ही जैन धर्मावलंबी स्वामी रविंद्र कीर्ति, आचार्य कृष्ण मोहन पांडेय महाराज, मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली, भिक्खू देवेंद्र थेरो, डोनाल्ड डिसूज़ा, सिक्ख धर्म गुरू राजेंद्र बग्गा ने भी इंसान को इंसानियत की सीख लेने व एक जुट होकर सद्भावना के साथ चलने की बात कही।
चर्चा के दौरान सभी धर्म गुरूओं ने इस स्नेह मिलन वीडियो कॉन्फ्रेंस को सराहा तथा बीके स्वर्णलता ने सामूहिक राजयोग मेडिटेशन कराकर ईश्वरीय प्रकाश के माध्यम से सभी को स्वास्थ्य, सुख और शांति के शुभ संकल्प दिए। अंत में बीके राधा ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री द्वारा लिए जा रहे निर्णय पर सहयोग की अपील करते हुए बाह्य के साथ आंतरिक सैनिटाइज़ेशन पर भी ध्यान देने का आहवान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *