Thu. Jun 4th, 2020

Lodhi Road, Delhi

अक्षमता के बारे में सोच लेना ही जीवन का सबसे बड़ा अभिशाप है आज से अपनेआप को कहे की यह कार्य मै कर सकता हु और मै करूँगा यह वाक्या कहे वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके पियूष ने जब वो दिल्ली के लोधी रोड स्थित भारत सरकार की नवरत्न कंपनी एनबीसीसी इंडिया लिमिटेड के मुख्यालय में वैल्यूज से वैल्युएबल जीवन के अंतर्गत आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे.. जिसका उपस्थित सभी अधिकारीयों और कर्मचारियों ने लाभ लिया।

इस मौके पर कंपनी के महाप्रबंधक एस डी शर्मा ने अपने विचार रखते हुए कहा की सही डिसीजन लेने के लिए मन की शांति की अत्यंत आवश्यकता है वही उपस्थित अधिकारीयों ने भी अपने अनुभव सभी के साथ साझा किये।

कार्यक्रम की अंतिम कड़ी में बीके पियूष ने मेडिटेशन कमेंट्री द्वारा सभी को राजयोग अभ्यास भी कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *