Sun. Oct 25th, 2020

Kathmandu, Nepal

नेपाल के काठमांडू में ब्रह्माकुमारीज़ के इस वर्ष की थीम स्वर्णिम संसार के लिए वैश्विक जागृति के राष्ट्रीय शुभारंभ अवसर पर उपप्रधानमंत्री तथा रक्षामंत्री ईश्वर पोखरेल ने अपने वकतव्य में कहा कि संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय शांतिदूत पुरस्कार से सम्मानित इस संस्था की निस्वार्थ सेवा प्रति नेपाल सरकार पूर्णतः सकारात्मक है और इस महान अभियान में संस्थान को सहयोग देने के लिए हमेशा तैयार है।

जब तक परमात्मा का परिचय नहीं है तब तक उससे संबंध नहीं जुड़ सकता और जब तक संबंध नहीं है तो प्राप्ति नहीं हो सकती और जब तक प्राप्ति नहीं तो खुशी भी नहीं मिल सकती कुछ ऐसी ही अभिव्यक्ति भारत के गुरूग्राम में ओआरसी की निदेशिका बीके आशा ने व्यक्त की।

कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए काठमांडू जोन की निदेशिका बीके राज ने कहा कि भगवान ने हमें कर्मयोग सिखाया है कर्मसन्यास नहीं। इसके अलावा बीके कुसुम, बीके रामसिंह, बीके तिलक और बीके किशोर ने कार्यक्रम के विषय पर प्रकाश डाला।

इस विशाल कार्यक्रम का उद्घाटन सभी अतिथियों ने परमात्म याद और कैंडल लाइटिंग कर किया वहीं सुंदर सांस्कृतिक समारोह का सभी ने आनंद लिया।

अंत में सभी विशिष्ट लोगों को बीके राज ने श्रीलक्ष्मी नारायण की तस्वीर देते हुए उनके समान दैवी गुण संपन्न बनने का आहवान किया व शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया इस मौके पर देवी देवताओं की आकर्षक चैतन्य झांकी सहित स्वर्णिम संसार का नमुना भी सजाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *