Sat. Oct 31st, 2020

Hodal, Haryana

ऐसे ही रौशनी पब्लिक स्कूल में विशेष शिक्षकों के लिए आदर्श शिक्षक विषय पर हुई कार्यशाला, बीके निशा ने अपने विचार व्यक्त हुए कहा कि भौतिक शिक्षा के साथ नैतिक शिक्षाओं की धारणाओं से अपने जीवन को खुशनुमा बनाने की है अत्यंत आवश्यकता, वहीं बीके भगवान् ने कहा कि ज़बान की शिक्षा से ज़्यादा तेज़ होती है आचरण की शिक्षा इस कार्यक्रम में डायरेक्टर हरेन्द्र सिंह, सीनियर टीचर वीरेंद्र कुमार समेत पूरे स्टाफ ने लाभ लिया इस मौके पर बीके रामाधार, बीके छोटू, बीके उदय भी रहे मौजूद।

आगे रौशनी पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों को मार्गदर्शित करते हुए बीके भगवान ने राजयोग को अपने जीवन का अभिन्न हिस्सा बनाने कि की अपील राजयोगाभ्यास कराकर सभी को कराई परमात्मनुभूती, विद्यार्थियों ने साझा किए अपने अनुभव।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *