Thu. Oct 24th, 2019

Haryana

हरियाणा, पानीपत के ज्ञान मानसरोवर रिट्रीट सेन्टर से शुरु हुआ आपदा प्रबंधन एवं स्वच्छता अभियान के गुरुग्राम के ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर पहुचने पर सफलता पूर्वक समापन हो गया, समापन समारोह में हरियाणा के पूर्व परिवहन मंत्री जगदीश यादव ने संस्थान के आचार व विचारों का वर्णन करते हुए कहा कि ये एक ऐसी संस्था है, कि दुनिया में इसके मुकाबले दूसरी संस्था ना मिले।

इस अवसर पर ओआरसी की निदेशिका बीके आशा ने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं का मूल कारण मानव मन में उठनी वाली भावनात्मक आपदाओं है, वहीं स्प्रिचुऐलिटी और इमोशनल इंटेलिजेंस को इसका निवारण बताया।

अपने वक्तवय में आगे बीके आशा ने मैं और मेरे के अन्तर स्पष्ट करते हुए डिटेचमेंट की परिभाषा स्पष्ट की, साथ ही बताया कि भावनात्मक रुप से मज़बूत बनेंगे तभी आपदाओं का प्रबंधन कर पाएंगे।

एंकरः इस मौके पर आए पार्क प्लाजा के महानिदेशक अविनीश माथुर ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि आध्यात्मिकता केवल स्वयं का नहीं बल्कि साथ रहने वालो का भी जीवन परिवर्तन कर देती है।

कार्यक्रम में मुख्यालय माउण्ट आबू से आए वैज्ञानिक एवं अभियन्ता प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके मोहन सिंघल ने बताया संस्थान चलाए गए आपदा प्रबंधन अभियान की जानकारी देते हुए आपदाओं को विश्व परिर्वतन का साधन बताया। वहीं अभियान की वरिष्ठ सदस्या बीके अस्मिता ने सभी को आपदाओं से निपटने में अपनी ज़िम्मेवारी समझ अहम भूमिका निभाने की प्रतिज्ञा कराई।

इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय संयोजक बीके भारत भूषण, चण्डीगढ़ सेक्टर-46 सी की प्रभारी बीके पूनम, यूएसए से आए स्वामी कृष्ण योगी तथा बड़ी संख्या में अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *