Tue. Jul 23rd, 2019

Delhi

आज तनाव बेहद आम बात हो गई है आलम ये है कि लोग तनाव के बगैर जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि संघर्षमय जीवन में तनाव आना स्वाभाविक है शायद आप भी इस बात से सहमत हों लेकिन वास्तविकता कुछ और है खुश रहना स्वभाविक है और तनाव एक बीमारी जिसे समाप्त करने के लिए विचारों की शक्ति को जानना ज़रूरी है ऐसे ही तनाव के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा करने और उसका निवारण करने के लक्ष्य से दिल्ली के ग्रेटर कैलाश में दो दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमें माउंट आबू से वरिष्ठ राजयोगी बीके सूरज मुख्य वक्ता के तौर पर पहुंचे और उन्होंने अपने विचार सभी के समक्ष रखे।
एक तरफ सीक्रेट ऑफ माइंड पावर विषय पर बीके सूरज ने बहुत ही सुंदर तरीके से प्रकाश डाला और साथ ही व्यवहारिक रूप से अनुभव कराने के लिए कमेंट्री द्वारा राजयोग का अभ्यास भी कराया।
ब्रह्माकुमारीज द्वारा आयोजित इस सेमिनार का शुभारंभ बीके सूरज, दिल्ली डेवलपमेंट अथॉरिटी के वाइस चेयरमैन तरूण कपूर, बीके संगीता, माउंट आबू से आई बीके गीता समेत शहर के कई प्रतिष्ठित लोगों ने दीप जलाकर किया जिसके बाद अतिथियों ने संस्थान के कार्यों को सराहा और बीके सदस्यों ने विषय पर चर्चा की।
पहले दिन में संगोष्ठी के अंत में श्री गंगाराम अस्पताल के चाइल्ड एनरोसाइकैटरिस्ट डॉ. दीपक गुप्ता ने अपने अनुभव सुनाते हुए बताया कि किस तरह से आज के समय में बच्चे से लेकर बुढ़े तक सभी तनाव के शिकार हो चुके हैं जिसे समाप्त करने करने के लिए मन की शक्ति को पहचानकर उसका सदुपयोग करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *