Sun. Aug 18th, 2019

Delhi

4th अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया भर में योग के प्रति दिवानगी दिखी। आयुष मंत्रालय तथा ब्रह्माकुमारीज़ के संयुक्त तत्वाधान में देशभर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गये। आप को हम अलग अलग स्थानों का पूरा समाचार दिखायेंगे। आप अपनी टेलिविजन स्क्रीन पर देख सकते है अलग-अलग षहरों की तस्वीरें, जहाँ योग और राजयोग बड़ी संख्या में लोग भाग ले रहे है।
तेलंगाना से, जहाँ ब्रह्माकुमारीज़ के हैदराबाद तथा सिकंदराबाद शाखाओं ने मिलकर एक बहुत ही सुन्दर राजयोग कार्यक्रम का आयोजन किया, जिसका मुख्य उद्देष्य था गहन राजयोग अनुभूति करान तथा विष्वभर में शांति के प्रकम्पन फैलाना।
सूर्योदय की सुनहरी किरणों, पंछियों की मधुर आवाज़, बगीचे के हरे भरे प्राकृतिक सौंदर्य, रंग बिरंगे फूलों की महक और उस पर मधुर आध्यात्मिक गीतों ने वातावरण को ओर भी मनमोहक बना दिया। इस खास मौके पर तेलंगाना, आंध्रप्रदेष तथा महाराष्ट् ज़ोन की निदेषिका बीके संतोष ने षिरकत कर अपनी षुभआषाएं व्यक्त की।
मुख्य अतिथि के रुप में आए तेलंगाना लेजिस्लेटिव कौंसिल के अध्यक्ष स्वामी गौड, हाई कोर्ट के जज जस्टिस गंगाराव, पिछड़ा वर्ग आयोग के पूर्व अध्यक्ष जस्टिस वी ईश्वरय्या, हैदराबाद के शांति सरोवर की निदेषिका बीके कुलदीप, सीकंदराबाद की प्रभारी बीके मंजू, बीके सरोज समेत बड़ी संख्या में बीके बहनें व सेवाकेन्द्रों से जुड़े हज़ारों लोगो ने योग के राजयोग का किया अभ्यास।

मध्यप्रदेष में इंदौर के न्यू पलासिया स्थित ओम् षान्ति भवन के ज्ञान षिखर में योग महोत्सव में राजयोग द्वारा स्वस्थ समृद्ध जीवन विषय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें देवी अहिल्या विश्व विद्यालय के योगा डिपार्टमेंट के अध्यक्ष डॉ. एस.एस षर्मा, इंटरनेशनल नेचुरोपौथिस्ट ऑर्गेनाईजेषन तथा इंदौर मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. संजय लोढ़े, योगाचार्य बृजेष मिश्रा समेत इंदौर की मुख्य क्षेत्रिय समन्यवक बीके हेमलता, दिव्य जीवन कन्या छात्रावास की संचालिका बीके करुणा, समेत उपस्थित अन्य वरिष्ठ बीके बहनों ने दीप प्रज्जवलन कर किया।
राजयोग का प्रत्यक्ष प्रमाण देखने को मिला, जब दिव्य जीवन कन्या छात्रावास की कुमारियों द्वारा योग महोत्सव में बेहतर प्रदर्शन देखने को मिला।
कार्यक्रम में बीके हेमलता ने कहा कि राजयोग सभी योगों का राजा है क्योंकि राजयोग से आत्मा का परमात्मा से मिलन होता है, इस राजयोग में सभी योग समाहित है। वहीं अतिथियों ने अपने विचार ज़ाहिर करते हुए योग से होने वाले अन्य कई फायदों के बारे भी बताया साथ ही ये भी कहा कि स्वस्थ तन से ही राजयोग का भरपूर आनंद ले पाएंगे।
इस दौरान योगाचार्य बृजेष मिश्रा ने सभी को योगसन का अभ्यास कराया तो बीके करुणा ने सुन्दर कॉमेंट्री द्वारा राजयोग की अनुभूति कराई।

जबलपुर में कटंगा कालोनी सेवाकेन्द्र ने योग दिवस पर परिचर्चा का आयोजन किया, जिसका विषय था राजयोग द्वारा सम्पूर्ण स्वास्थ्य। इस चर्चा में पषु चिकित्सा विष्व विद्यालय के कुलपति डॉ. पी.डी. जुयाल, काली धाम से स्वामी राधे चैतन्य, योगाचार्या नीता पाण्डेय, सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके विमला ने कार्यक्रम का षुभारम्भ कर योग के विभिन्न पहलुओं पर सभी ने अपने विचार व्यक्त किए, आइए देखते है… सम्पूर्ण स्वास्थ्य में योग और राजयोग की भूमिका पर व्यक्ताओं का क्याँ कहना था।
बेंगलुरु में बी.एस.एफ के एस.टी.सी में ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान के सुरक्षा सेवा प्रभाग द्वारा अन्तर्राष्ट्ीय योग दिवस के उपलक्ष्य में इराडिक्षन ऑफ स्टेटस एण्ड ऐन्हैन्सिंग स्टै्न्थ विष्य पर कार्यषाला का आयोजन हुआ। जिसमें मुख्य रुप से उपस्थित आई.जी – पी.एस.आर अन्जानेयुल्लु, बी.एस.एफ के चीफ इंस्ट्क्टर कमांडेन्ट मंजिन्दर सिंह, येलहंका न्यू टाउन सेवाकेन्द्र की प्रषासक बीके विजयलक्ष्मी, संस्था के सुरक्षा सेवा प्रभाग की दिल्ली ज़ोन की कोर्डिनेटर बीके सारिका, पूणे से आई बीके सरिता समेत प्रभाग के अन्य सदस्यों कार्यक्रम की षुरुआत की।
कार्यषाला में मौजूद पुलिसकर्मियों को राजयोगा मेडिटेशन की विधि सिखाते हुए बीके बहनों ने अपने जीवन में संयम का गुण धारण करने की बात कही, साथ ही बताया कि निरंतर राजयोग का अभ्यास दिनचर्या में कई नवीन परिवर्तन ले आता है।
इस कार्यशाला से पूर्व मैन फैकल्टी मेम्बर जी.पी कैप्टन डी.एस साचन ने बड़ी संख्या में मौजूद जवानों को शरीरिक योगासन समेत राजयोग मेडिटेशन का अभ्यास कराया।

उधर तराला में भी सी.आर.पी.एफ में डी.आई.जी ग्रुप सेन्टर के डी.आई.जी सुनन्द कमल, बीके विजयलक्ष्मी, हैदाराबाद के ज्ञान सरोवर के बीके रामा कृष्णा तथा प्रभाग के अन्य सदस्यों की मौजूदगी में कार्यषाला का षुभारम्भ हुआ।
विभिन्न सत्रों में आयोजित इन कार्यषालाओं में प्रतिभागियों को राजयोग करने की विधि बताते हुए तनाव भरे वातावरण में भी आन्तरिक रुप से सषक्त रहने की कला सिखाई।

बेंगलुरु में येलहंका सेवाकेंद्र पर भी सुरक्षा सेवा प्रभाग द्वारा सेल्फ इस्टीम विषय पर कार्यशाला में बीके सारिका ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से मैनेजिंग लाइफ सीरीज पर चर्चा की। इस मौके पर पुणे से आई बीके सरिता, दिल्ली के तिलकनगर से बीके हेमलता और बीके भारत भी रहे मौजूद।

महारष्ट् के चाकूर स्थित बी.एस.एफ के एस.टी.सी में दो दिनों के लिए आयोजित की गई थी, जिसमें कमांडेन्ट संदीप रावत समेत प्रभाग के सदस्य तथा उद्गीर सेवाकेन्द्र से बीके महानन्दा और स्थानीय सेवाकेन्द्र से बीके छाया ने दीप जलाकर कार्यक्रम की षुरुआत की।
कार्यशाला में तनाव प्रबंधन, सकारात्मक सोच की कला, रिश्तो में सामंजस्यता आदि विष्यों पर चर्चा की गई। इस दौरान बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों समेत जवानों ने इन कार्यषालाओं का लाभ लिया, जिससे प्रभावित होकर कमांडेन्ट संदीप रावत ने संस्थान के सभी फैकल्टी मेम्बर्स तथा आमंत्रित बीके बहनों को मोमेंटो भेंटकर सम्मान दिया।

इसके बाद मुम्बई के मलाड स्थित आई.एन.एस हमला में ब्रह्माकुमारीज़ को आमंत्रित किया गया। कार्यक्रम में कार्पोरेट ट्रेनर प्रो. बीके ई.वी स्वामीनाथन ने 3 प्रकार के स्वास्थ्य बताते हुए फिज़िकल, मैंटल और स्प्रीचुअल हैल्थ के बारे में एन.सी.सी कैडेट्स को बताया।
कार्यक्रम में मलाड सेवाकेन्द्रों की प्रभारी बीके कुन्ती ने राजयोग द्वारा अपने सम्पूर्ण स्वास्थ्य का विकास करने की बात कही, इस दौरान बीके डॉ. अल्पा ने कैडेट्स को योग और राजयोग का अभ्यास कराया।

ओड़िशा भुवनेश्वर के यूनिट-8 में ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा लक्ष्मीपूजा ग्राउण्ड में फौरमर इंफरमेशन कमीश्नर तथा सी.वाई.एस.टी के मेम्बर सेक्रेटरी जगदानन्द, पार्षद धीरेन्द्र कुमार बेहरा, भारतीय योग संस्थान के ओड़िशा प्रांत के अधिकारी अक्षय कुमार स्वैन, स्थानीय सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके दुर्गेश नन्दिनी तथा योगा ट्रेनर प्रदीप कुमार, विभूति भुआसन मौजूद रहे।
कार्यक्रम में बीके दुर्गेश नन्दिनी ने राजयोग के बारे बताते हुए सभी को गाइडेड मेडिटेशन कराया, इस अवसर पर आए अतिथियों ने बताया कि कला और संस्कृति को सकारात्मक दिशा देने में प्राचीन योग की प्रमुख भूमिका है, जिसका सीधा प्रभाव समाज पर भी पड़ता है।
महाराष्ट् के विरार सेवाकेन्द्र की रजत जयंती के अन्तर्गत योग दिवस पर पावर ऑफ योगा विषय पर कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें मुम्बई से वरिष्ठ मनोचिकित्सक बीके डॉ. गिरीश पटेल, सुरजन कला समूह के स्थापक संदीप फाटक, महाराष्ट् टाइम्स के वरिष्ठ पत्रकार मयूरेश वाघ, लायंस क्लब के सचिव नितिन पुरकर, वसई की सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके प्रफुला, बीके सुनन्दा ने दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की।
कार्यक्रम के मुख्य बिंदु रहे… मैगनेटिक योग की आनंददायक क्रियाएं, सम्पूर्ण शरीर का व्यायाम, योग से सफलता में वृद्धि, वर्तमान में जीना तथा रचनात्मक दृष्टिकोण आदि विषयों पर बीके गिरीश ने चर्चा की, इसके साथ ही उनके द्वारा सिखाई गई 16 मैगनेटिक योग की क्रियाओं का सभी ने भरपूर आनन्द लिया।
कार्यक्रम के अन्त में प्रभारी बीके प्रफुला ने संस्थान की रजत जयंती के अवसर पर सभी अतिथियों को मोमेंटों भेंटकर सम्मान दिया।

आगे दिल्ली में मण्डावली सेवाकेन्द्र द्वारा संजय झील पार्क में संगठित योग का कार्यक्रम आयोजित हुआ, जिसमें मण्डावली, मयूर विहार फेज-1, फेज-2 तथा गाज़ियाबाद के इंदिरापुरम्, क्रोसिंग रिपब्लिक सेवाकेन्द्रों के सदस्यों ने एकत्रित होकर योग और राजयोग का अभ्यास किया। इस अवसर पर मण्डावली सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके सुनिता ने बताया कि राजयोग.. एकमात्र ऐसा योग है जिससे आत्मा के भीतर की शक्ति.. मन की तंदुरुस्ती कायम रहती साथ ही शरीर भी स्वस्थ रहता है।
इस अवसर पर इंद्ररापुर सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके रश्मि, ग्रेटर नोएडा से आई बीके सुषमा, राजयोग शिक्षिका बीके सुनिता, सतकार भवन से बीके नरेन्द्र तथा ब्रिगेडियर डॉ. एस.के अरोड़ा मुख्य रुप से मौजूद थे। इस दौरान जयपुर से आए बीके हैप्पी ने सभी को सम्पूर्ण स्वस्थ रहने के लिए व्यायाम कराए। जिसके बाद सभी ने परमात्म अनुभूति के लिए राजयोग का अभ्यास किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *