Sat. Oct 31st, 2020

Delhi

नई दिल्ली के पहाड़गंज सेवाकेन्द्र द्वारा महिला सशक्तिकरण विषय पर विशाल कार्यक्रम का आयेाजन किया गया। इस सम्मेलन में दिल्ली लोकसभा के सदस्य मिनाक्षी लेखी, जीवन प्रबन्धन विशेषज्ञ बीके उषा, सर्वोच्च न्यायालय की वरिष्ठ वकील रीमा भंडारी, स्त्री रोग विशेषज्ञा मंजू गुप्ता, पहाड़गंज क्षेत्र की काउंसिलर बबिता भारिजा तथा सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके बीके ज्योति समेत कई लोगों की उपस्थिति में उदघाटन किया गया।

महिला और उसके अधिकारों पर तक लगातार बात होती है परन्तु वह शक्ति स्वरुप बन दुर्गा और काली मुवाफिक बुराईयों को मिटाने का प्रयास करें ऐसा सम्मेलन शायद ही कही देखने को मिले। परन्तु ब्रह्माकुमारीज संस्था ने महिलाओं को शक्ति स्वरुप बनाने के लिए कमर कस चुकी है। इसी कड़ी में दिल्ली के पहाड़गंज में विशाल सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें आम से लेकर विशिष्ट महिलायें शामिल हुई। इस सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए बीके उषा ने कहा कि नारी शक्ति का ही रुप है। उसे अपने जीवन में शक्ति को उतारना होगा।
जबकि राजनीति में अपनी अलग पहचान बनाने वाली मीनाक्षी लेखी ने कहा कि जब तक नारी अपना सम्मान करना नही सीखेगी तब तक दूसरा कोई सम्मान नहीं करेगा। इसलिए अपनी शक्ति पहचानने की जरुरत है। वहीं सर्वोच्च न्यायालय की वकील रीमा भंडारी ने कहा कि अभी तक तो हम पुरुषों के सहयोग से कुछ कर पाते है परन्तु अपने अन्दर शक्ति को धारण करें तो खुद ही मुकाम हासिल कर सकते है।
सम्मेलन में सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके ज्योति, काउंसिलर बबिता भारीजा, नोएडा सेक्टर की सह निदेशिका बीके सुदेश ने भी अपने अपने विचार व्यक्त करते हुए नारी को शक्ति स्वरुप बन श्रेष्ठ समाज निर्माण में अपनी भूमिका अदा करने पर जोर दिया। इसके साथ ही इस अवसर पर करोल बाग की भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की अध्यक्षा दामिनी चंडेला, वैज्ञानिक मधुरिमा मिश्रा, रामजस फाउण्डेशन की सचिव गौरी शंकर मुंद्रा समेत कई लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *