Mon. May 25th, 2020

Bihar

बिहार के समस्तीपुर में न्यायमूर्ति वी इश्वरैय्या के आगमन पर उनके स्वागत में न्यायलय परिसर में न्यायिक समुदाय द्वारा ‘रोल ऑफ स्पिरिचुअलिटी इन मेडिटेशन‘ विषय के अंतर्गत न्यायिक पदाधिकारियों के लिए व्याखान आयोजित किया गया. इस मौके पर समिस्तिपुर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संजय कुमार, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव दिव्या वशिष्ठ, स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बीके सविता मुख्य रूप से मौजूद थे.

इस मौके पर मुख्य वक्ता बीके वी इश्वरैय्या ने बताया की मेडिटेशन एक जटिल प्रक्रिया है लेकिन आध्यात्मिकता के समावेश से इसे सरल बनाया जा सकता है वही आगे उन्होने बताया की सुप्रीम जस्टिस परमपिता परमात्मा से सम्बन्ध जोड़ने से हमारा मन शांत और निर्मल बनता है जिससे न्यायिक फैसलों में काफी मदद मिलती है. इस कार्यक्रम का अनेकानेक न्यायिक पदाधिकारियों एवं अधिवक्ताओं ने लाभ लिया.

वही आगे ब्रह्माकुमारीज एवं न्यायविद समुदाय के संयुक्त प्रयास से न्यायविदों के लिए इजी लाइफ फॉर बिजी जूरिस्ट कांफ्रेंस का स्थानीय सेवाकेंद्र पर आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम का हैदराबाद से आए पूर्व न्यायाधीश वी. इश्वरैय्या, मुजफ्फरपुर सब जोन प्रभारी बीके रानी, ए. डी.जे प्रणव कुमार झा, आर के पाण्डेय, रोसड़ा के एस.डी.जे.एम् दीपचंद्र पाण्डेय, ए.सी.जे.एम् दशरथ मिश्र, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव दिव्या वशिष्ठ समेत न्यायिक पदाधिकारी, अधिवक्तागन एवं बुद्धिजीवियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *