Fri. Oct 30th, 2020

यदि आपके मन में किसी के प्रति नफरत है या आप उसके लिए बुरा सोचते है तो वह भी आपके लिए बुरा सोचेगा…गलती करने वाले से माफ करने वाला बड़ा होता है यह वाकया कहे वरिष्ठ राजयोग प्रशिक्षक बीके भगवान् ने जब वो बिहार के बक्सर स्थित सेंट्रल जेल में कर्मो की गुह्य गति से तनाव मुक्ति विषय के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम में कैदियों को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर जेल अधीक्षक वी के अरोड़ा, पटना से आये राजयोग शिक्षक बीके रविन्द्र, प्रो. शंकर शाह, एस डी सिंह मुख्य रूप से मौजूद थे । स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बीके अनामिका ने कैदियों से अपनी कमजोरियों को खत्म करने का आह्वान किया वही बीके रानी ने सभी कैदियों को आध्यात्मिक साहित्य भेट कर मेडिटेशन का अभ्यास भी कराया ।

वहीं आगे छोटका ढकाईच गांव में व्यर्थ संकल्पों से मुक्ति विषय पर आयोजित कार्यक्रम का जे पी यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष प्रो. शंकर शाह, बीके भगवान्, बीके अनामिका समेत कई बीके सदस्यों की उपस्थिति में उद्घाटन किया गया. इस अवसर पर बीके भगवान् ने सकारात्मक विचारों का महत्व स्पष्ट करते हुए अपने अन्दर छिपी बिमारियों से निजात पाने के लिए राजयोग एवं परमात्म ज्ञान को जीवन में धारण करने की बात कही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *