Thu. Oct 22nd, 2020

ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा मुख्यालय में देश के शहीदों की स्मृति में श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें बतौर मुख्य अतिथि के रुप में भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने शिरकत की। पहली बार ब्रह्माकुमारीज संस्थान के अंतर्राष्ट्रीय मुख्यालय आए सेनाध्यक्ष ने कहा कि ब्रह्माकुमारीज संस्थान और सेना में समानता है। ब्रह्माकुमारीज संस्थान भी पूरे विश्व में शांति के लिए कार्य कर रही है ओर सेना भी युद्ध सिर्फ शांति के लिए ही करती है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ब्रह्माकुमारीज़ संस्था पूरे विश्व के 140 देशों में कार्य कर रही है जिसका एक ही मकसद है अमन चैन और शांति। कोई भी देश विश्व युद्ध नहीं चाहता परन्तु जिस तरीके से कार्रवाई हो रही है, आतंकवाद फैल रहा है। उससे पूरा विश्व विनाश की ओर उभर रहा है। ऐसे में ऐसी संस्थाओं से ज्ञान की ज़रुरत है।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम में संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी, संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन तथा कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये।

कार्यक्रम के पश्चात् सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत ने ब्रह्माकुमारीज संस्था की मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी से मुलाकात की तथा कुशलक्षेम पूछी। दादी विश्व शांति के लिए अध्यात्म को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर संस्था के महासचिव बीके निर्वेर समेत कई लोग उपस्थित थे।

इससे पूर्व जनरल बिपिन रावत के मानपुर हवाईपटटी पहुंचने पर, जहॉं सेना के अधिकारियों तथा ब्रह्माकुमारीज़ संस्था के बीके मृत्युंजय, सूचना निदेशक बीके करुणा, बीके भरत, बीके बनारसी लाल गुलदस्ते भेंटकर उनका स्वागत किया था। जिसके बाद सेनाध्यक्ष ने पांडव भवन तथा ज्ञानसरोवर का भी अवलोकन किया।

श्रद्धांजलि कार्यक्रम के दौरान सिरोही जिले के जीरावल की शहीद चेतराराम की पत्नी अमिया देवी को शॉल ओढ़ाकर तथा मोमेंटों भेंटकर सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *