Fri. Aug 14th, 2020

भौतिक व तकनीकी रूप से व्यक्ति कितना भी सम्पन्न हो जाए लेकिन आंतरिक शांति की प्यास भुझाने के लिए व्यक्ति भारत की तरफ ही अपना रूख करता है ऐसा देखने में आया गुरूग्राम के ओम् शांति रिट्रीट सेंटर में जहां तकनीक का हब कहें जाने वाले चीन से 60 अतिथि शांति की गहन अनुभूति करने के लिए पहुंचे थे जिन्हें राजयोग शिक्षिका बीके विधात्री ने सबसे पहले तो उन्हें ह्यूमन बिइंग का वास्तविक अर्थ स्पष्ट किया और उसके पश्चात् उन्हें कई गतिविधियां करवा वर्कशॉप के अन्त में सभी अतिथियों ने महसूस किया कि स्वयं को रिचार्ज करने के लिए मेडिटेशन करना बहुत आवश्यक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *