Ahmedabad, Gujarat

करोना काल के बीते वर्ष होने पर स्प्रिचुअल डॉक्टर्स फॉर होलिस्टिक हेल्थ विषय पर विशेषज्ञ चिकित्सकों के लिए ई सेमिनार आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मनोचिकित्सक डॉ. जी एल सम्पूर्णा, पौराणिक विज्ञानी के लेखक देवदत्त पटनायक, ओशो के छोट़े भाई स्वामी शैलेन्द्र सरस्वती, ह्दयरोग विशेषज्ञ डॉ. मोहित गुप्ता, मस्तिष्क रोग विशषज्ञ डॉ. सुधीर शाह, वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके बिन्नी सरीन तथा सुप्रसिद्ध बासुरी वादक ऑस्ट्रेलिया के बीके डेविड ने भाग लिया। विश्व बेटी दिवस के संस्थापक अहमदाबाद के डॉ. संदीप ज्योत तथा दिल्ली के डॉ एस रंजन द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में कई विशेषज्ञों ने भाग लिया।
बीते करोना कॉल चिकित्सकों की दोहरी भूमिका के बीते एक साल पर आयोजित इस कार्यक्रम में विशेषज्ञों ने कहा कि बीमारियों से लड़ने के लिए दवा के साथ दुआ अर्थात आध्यात्मिक शक्ति की अति आवश्यकता है।
इस कार्यक्रम का शुभारम्भ आत्मा की हीलिंग के लिए म्यूजिक और मेडिटेशन विषय पर विशेष आस्टे्लिया के बीके डेविड ने अपने बासुरी वादन से लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। साथ ही आध्यात्मिक उन्नति में म्यूजिक एवं मेडिटेशन की भूमिका पर भी प्रकाश डाला।
कार्यक्रम में नई दिल्ली के जीबी पंत हॉस्पिटल में कार्डियोलॉजी विभाग के प्रोफेसर डॉ. मोहित गुप्ता तथ माउण्ट आबू की वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका डॉ. बीके बिन्नी सरीन ने कहा कि राजयोग की भूमिका मनुष्य के सर्वागिण स्वास्थ्य में अहम है। क्योंकि जब आत्मा स्वस्थ होती है तो शरीर को स्वस्थ होने में मदद मिलती है।

GWS Peace News

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *