Thu. Oct 22nd, 2020

Strengthening our roots

माउंट आबू के ज्ञानसरोवर में प्रशासकों के लिए चार दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया प्रशासक प्रभाग द्वारा Strengthening our roots विषय पर आयोजित इस सम्मेलन का शुभारंभ शहरी विकास और आवास मंत्री श्रीचंद कृपलानी, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अनिल स्वरूप, संस्थान के कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, प्रशासक प्रभाग की अध्यक्षा बीके आशा, राष्ट्रीय संयोजिका बीके अवधेश, मुख्यालय संयोजक बीके हरीश ने दीप जलाकर किया।

वीओसम्मेलन में श्रीचंद कृपलानी ने अपने संबोधन में कहा कि हमारे पूर्वज कहा करते थे कि इस देश में दूध घी की नदियां बहा करती थी, भारत सोने की चिड़िया कहा जाता था, भारत विश्व गुरू कहलाता था, लेकिन आज क्या स्थित हो गयी है हमारे देश की, मगर आज भी प्रशासक और राजनेता भारतीय संविधान के अनुसार ईमानदारी जिम्मेवारी से कार्य करें तो भारत को विश्व गुरू बनने से कोई नहीं रोक सकता साथ ही अनिल स्वरूप ने कहा कि अपनी जिम्मेवारी का निर्वाहन करते हुए चेक करें कि उससे मुझे खुशी मिल रही है, अगर खुश नहीं मिल रही है तो आप पाएगें कि मैने ईमानदारी से अपनी जिम्मेवारीयों को नहीं निभाया अंत में बीके मृत्युंजय ने सम्मेलन के विषय पर प्रकाश डालते हुए कहा यह संस्थान लोगो को राजयोग मेडिटेशन के माध्यम से उसे उसके मूल स्वरूप की ओर ले जाने का कार्य कर रहा है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *